पंजाब व हरियाणा के डॉक्टर देशव्यापी हड़ताल में हुए शामिल, मरीज परेशान

चंडीगढ़, 31 जुलाई (आईएएनएस)। पंजाब और हरियाणा में मेडिकल सेवाएं प्रभावित हुई हैं। दोनों राज्यों के सरकारी अस्पतालों के डॉक्टर बुधवार को नेशनल मेडिकल कमीशन (एनएमसी) विधेयक-2019 के विरोध में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) द्वारा बुलाई गई एक दिन की हड़ताल में शामिल हुए।

हड़ताल का असर दोनों राज्यों के ग्रामीण इलाकों में ज्यादा देखा गया। शहरी क्षेत्रों में निजी डॉक्टर भी हड़ताल में शामिल हुए।

हड़ताल के कारण ओपीडी की चिकित्सा सेवाएं बुरी तरह प्रभावित हुईं।

मरीजों और तीमारदारों ने कहा कि सरकार इस मुद्दे को सही तरीके से सुलझाने में विफल रही, जिसके कारण उन्हें परेशानी झेलनी पड़ी।

पंजाब के बठिंडा शहर के रहने वाले अजायब सिंह ने कहा, हड़ताल के कारण केवल आम आदमी ही परेशान है।

चंडीगढ़ के पोस्ट-ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च (पीजीआईएमईआर) में भी चिकित्सा सेवाएं बुरी तरह प्रभावित हुई हैं। यहां पंजाब, हरियाणा व चंडीगढ़ के साथ ही हिमाचल प्रदेश, जम्मू एवं कश्मीर, उत्तराखंड के रोगी काफी संख्या में इलाज के लिए आते हैं, जिन्हें परेशानियों से गुजरना पड़ा।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment