पाकिस्तान तालिबान का फरमान, अकेले बाहर न निकलें महिलाएं, तेज संगीत न बजाएं

इस्लामाबाद, 1 अगस्त (आईएएनएस)। प्रतिबंधित तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) ने लोगों को जोर से संगीत बजाने, पोलियो टीकाकरण और महिलाओं को बिना किसी पुरुष संबंधी के साथ बाहर जाने के खिलाफ चेतावनी दी है। स्थानीय मीडिया के अनुसार टीटीपी ने फरमान जारी करते हुए इस चेतावनी पर गौर नहीं करने वाले लोगों को गंभीर परिणाम भुगतने को भी कहा है।

पाकिस्तान के उत्तरी वजीरिस्तान जिले के मुख्यालय मिरामशाह में लोगों को बुधवार को एक पेज पर उर्दू में लिखा संदेश मिला, जिसमें उन्हें इन सभी बातों के बारे में आगाह किया गया था।

इस संदेश में लिखा गया, हम आपको याद दिलाते हैं कि तालिबान द्वारा इससे पहले कई बार जारी किए गए इसी तरह के बयान को लोगों ने अनसुना कर दिया था। मगर इस बार हम तालिबान के आदेश का उल्लंघन करने वालों को निशाने पर लेने जा रहे हैं।

डॉन अखबार ने गुरुवार को बताया कि इस फरमान में महिलाओं को अकेले बाहर निकलने पर गंभीर नतीजे भुगतने की चेतावनी दी गई है।

संदेश में कहा गया है, महिलाओं को अपने घरों से बाहर नहीं जाना चाहिए, क्योंकि यह हमारे समाज के लिए हानिकारक है। प्रत्येक तीन लोगों में मुजाहिदीन का एक मुखबिर है। लोगों में यह गलत धारणा है कि हम हमारे आदेश की पालना नहीं करने वालों के बारे में नहीं जान सकेंगे। हमारे आदेश का पालन करें या सबसे बुरे परिणामों का सामना करने के लिए तैयार रहें।

रिपोर्ट के अनुसार पत्र में कहा गया, डीजे का कोई उपयोग नहीं होगा, न तो घर के अंदर और न ही खुले स्थानों पर। चेतावनी की अनदेखी करने वाले लोग गंभीर परिणामों के लिए खुद जिम्मेदार होंगे।

रिपोर्ट में कहा गया है कि टीटीपी ने लोगों को धमकाते हुए कहा कि टीकाकरण अभियान के दौरान पोलियो कर्मचारी बच्चों की उंगलियों पर निशान लगाएं लेकिन दवा न पिलाएं। जो ऐसा नहीं करेगा, उसे गंभीर परिणाम भुगतना होगा।

इस संदेश के जरिए कंप्यूटर पर या किसी दुकान पर जोर से संगीत बजाने पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment