मासूम के साथ समझौता नहीं किया : शेखर कपूर

मुंबई, 1 अगस्त (आईएएनएस)। फिल्मकार शेखर कपूर ने साल 1983 में आई फिल्म मासूम से निर्देशन के क्षेत्र में कदम रखा और उस वक्त कई लोगों ने उनसे फिल्म की स्क्रिप्ट को बदलने का आग्रह किया था। शेखर का कहना है कि उन्हें खुशी है कि उन सभी आवाजों को खामोश करने और अपने दृष्टिकोण का अनुसरण करने का साहस उनके पास था।

फिल्म के पोस्टर को साझा करते हुए शेखर ने ट्विटर पर लिखा, कई सारे लोग चाहते थे कि मैं मासूम के स्क्रिप्ट को बदल दूं।

उन्होंने आगे कहा, जो लोग मशहूर, अनुभवी और ज्ञानी थे, उन्होंने मुझसे कहा था कि फिल्म में कोई ड्रामा नहीं है, विलेन नहीं है। मैं तब नया, अनजान, अकुशल और अप्रशिक्षित था, लेकिन मैं बागी था और इसके लिए मैं भगवान का शुक्रगुजार हूं।

साल 1983 में रिलीज हुई फिल्म मासूम में नसीरुद्दीन शाह और शबाना आजमी के साथ बाल कलाकार के तौर पर जुगल हंसराज और उर्मिला मातोंडकर ने काम किया है।

मासूम के बाद शेखर कपूर द्वारा निर्देशित अगली फिल्म मिस्टर इंडिया थी। साल 1987 में आई यह फिल्म ब्लॉकबस्टर साबित हुई। 1994 में आई फिल्म बैंडिट क्वीन से उन्हें अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान मिली।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment