फेसबुक ने सऊदी सरकार से जुड़े प्रचार अभियान वाले अकाउंट्स हटाए

वाशिंगटन, 2 अगस्त (आईएएनएस)। फेसबुक ने सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) और मि से संचालित होने वाले 1.5 करोड़ से भी अधिक फॉलोवर्स वाले करीब 784 पेजों, ग्रुप्स और अकाउंट्स को हटा दिया है। ये सभी पेज और अकाउंट्स गुप्त अभियानों में शामिल थे।

सऊदी सरकार से जुड़े गुप्त अभियान को लेकर फेसबुक ने पहली बार सार्वजनिक घोषणा की है।

फेसबुक की साइबरसिक्योरिटी पॉलिसी के प्रमुख नथानिएल ग्लीचर ने गुरुवार देर रात एक बयान में कहा, हालांकि इस गतिविधि को अंजाम देने वाले लोगों ने अपनी पहचान छुपाने का बहुत प्रयास किया, लेकिन हमारी समीक्षा में सऊदी अरब सरकार से जुड़े व्यक्तियों के लिंक मिले हैं।

इस सोशल नेटवर्किं ग प्लेटफॉर्म को दो अलग-अलग अभियानों के बारे में पता चला, जिनमें से एक अभियान यूएई और मिस्र से शुरू हुआ था और दूसरा सऊदी अरब से।

ग्लीचर ने बताया, हमने जिन दो अभियानों को हटाया वे आपस में जुड़े नहीं थे, लेकिन दोनों ने ही दूसरों को गुमराह करने के लिए कि वे कौन हैं और क्या करते थे, इसके लिए अकाउंट्स का एक नेटवर्क बना रखा था।

फेसबुक ने सऊदी अरब से संचालित 217 फेसबुक अकाउंट, 144 फेसबुक पेज, पांच फेसबुक ग्रुप और 31 इंस्टाग्राम अकाउंट को हटाया है। ये मुख्य रूप से कतर, सऊदी अरब, यूएई, बहरीन, मिस्र, मोरक्को, फिलिस्तीन, लेबनान जोर्डन के साथ ही मध्य पूर्व और उत्तरी अफ्रीका पर केंद्रित थे।

फेसबुक ने सूचना दी, पेज के एडमिन और अकाउंट्स के मालिक आमतौर पर क्षेत्रीय समाचार और राजनीतिक मुद्दों के बारे में अरबी में पोस्ट करते हैं। इसमें प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान उनकी आर्थिक और सामाजिक सुधार योजना जैसे विषय और सऊदी सशस्त्र बलों की सफलताएं शामिल हैं।

इसके साथ ही उन्होंने ईरान, कतर और तुर्की सहित पड़ोसी देशों की आलोचना संबंधित पोस्ट भी डाले हैं और अल-जजीरा समाचार नेटवर्क और एमनेस्टी इंटरनेशनल की विश्वसनीयता पर सवाल भी उठाया है।

इसके साथ ही फेसबुक ने मध्य पूर्व में और अफ्रीका के उत्तरी और पूर्वी के कुछ भाग सहित कई देशों में अप्रमाणिक कार्यो में शामिल की वजह से यूएई और मिस्र से संचालित 259 फेसबुक अकाउंट, 102 फेसबुक पेज, पांच फेसबुक ग्रुप, चार फेसबुक इवेंट और से 17 इंस्टाग्राम अकाउंट को भी हटा दिया है।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment