अयोध्या विवाद : मध्यस्थता विफल, रोज होगी सुनवाई

नई दिल्ली, 2 अगस्त (आईएएनएस)। राम जन्मभूमि विवाद में मध्यस्थता को लेकर नियुक्त की गई समिति के किसी भी निष्कर्ष पर नहीं पहुंचने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को आयोध्या विवाद में 6 अगस्त से रोज सुनवाई करने का आदेश दिया है।

मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली एक संविधान पीठ ने बंद कमरे में कहा, विवाद को लेकर मध्यस्थता के लिए बनाई गई समिति किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंच पाई है। इसलिए इस मामले पर 6 अगस्त से प्रतिदिन सुनवाई शुरू की जाएगी।

मुस्लिम पक्षकार के वरिष्ठ वकील राजीव धवन ने कहा कि उनके मुवक्किल ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद सुब्रमण्यम स्वामी की रिट याचिका का विरोध किया, जिसमें उन्होंने मामले पर स्पीड अप ट्रायल की बात की।

रिट को लेकर धवन ने न्यायाधीशों से कड़े जवाब की मांग की। अदालत ने कहा, हम इसे देखेंगे।

धवन ने कहा कि उन्हें मामले में बहस करने की तैयारी के लिए 20 दिनों की जरूरत होगी। उन्होंने कोर्ट से अपील की कि बहस के अंतराल की सीमा को कम नहीं किया जाए। अदालत ने इस पर कहा, हम इसे देखेंगे।

संविधान पीठ ने सुनवाई को टालने से इनकार कर दिया, और कहा कि वह धवन की आपत्तियों को सुनवाई के दौरान सुनेगी।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment