उन्नाव कांड : सीबीआई जांच में आई तेजी

लखनऊ, 3 अगस्त (आईएएनएस)। उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता की दुर्घटना मामले की जांच में तेजी देखने को मिल रही है। रायबरेली में पीड़िता के साथ हुई दुर्घटना की जांच करने सीबीआई की विशेष टीम तैनात की गई है। सर्वोच्च न्यायालय ने सीबीआई को इस मामले की जांच के लिए सिर्फ 15 दिनों का समय दिया है।

सीबीआई टीम ने शनिवार को किंग जॉर्ज मेडिकल विवि के ट्रामा सेंटर में पीड़िता के परिवार के लोगों से पूछताछ की। सीबीआई की एक महिला अधिकारी भी दुष्कर्म पीड़िता से पूछताछ करने ट्रामा सेंटर के सीसीयू वार्ड में है। दूसरी टीम ने रायबरेली जेल में बंद पीड़िता के चाचा से पूछताछ के बाद उन्हें दिल्ली के तिहाड़ जेल रवाना कर दिया।

केजीएमयू के प्रवक्ता डॉ़ संदीप तिवारी ने बताया, केजीएमयू के ट्रमा सेंटर में भर्ती दुष्कर्म पीड़िता की हालत अब भी गंभीर बनी हुई है। उसके फेफड़े में जमा खून निकाल दिया गया है, लेकिन मल्टिपल फ्रैक्च र से काफी रक्तस्राव हुआ था, जिसके कारण 10 यूनिट खून चढ़ाना पड़ा है। घायल वकील को एक बार फिर वेंटिलेटर से हटा लिया गया है।

डॉ. संदीप तिवारी के मुताबिक, पीड़िता के शरीर पर कई फ्रैक्च र थे, काफी रक्तस्राव हुआ था। उसके बेहोशी में होने की वजह अधिक रक्तस्राव के अलावा सिर में छुपी हुई चोट हो सकती है। ऐसे में न्यूरो के डॉक्टर भी जुटे हुए हैं। पीड़िता के शरीर का दाहिना हिस्सा चोटिल हुआ है। उसके सिर में चोट, जबड़े में फ्रैक्च र, पसली में फै्रक्च र व दाहिनी जांघ की हड्डी टूटी हुई है। आथरेपेडिक चिकित्सकों ने कच्चा प्लास्टर चढ़ा दिया है।

इस बीच, सीबीआई कोर्ट ने उन्नाव दुष्कर्म कांड में ट्रक ड्राइवर और क्लीनर को तीन दिन पुलिस हिरासत में देने का आदेश दिया है। आरोपी विधायक कुलदीप सेंगर से जेल में पूछताछ करने की सीबीआई को इजाजत मिल गई है।

ज्ञात हो कि रायबरेली में हुए हादसे की जांच के लिए सीबीआई ने 20 सदस्यीय विशेष टीम गठित की है। इस टीम में एसपी, एएसपी, सीओ, इंस्पेक्टर व उपनिरीक्षक शामिल हैं। सीबीआई दिल्ली के कुछ अधिकारियों के साथ केंद्रीय फोरेंसिक साइंस लैब के छह विशेषज्ञों की टीम शुक्रवार को लखनऊ पहुंची और उसके बाद उसने रायबरेली जाकर घटनास्थल का बारीकी से निरीक्षण किया।

उन्नाव के विधायक कुलदीप सेंगर पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली पीड़िता अपने परिजनों सहित रायबरेली से उन्नाव लौटते समय रास्ते में सड़क हादसे का शिकार हो गई थी। उसकी कार और ट्रक के बीच हुई टक्कर में पीड़िता की चाची और मौसी की मौके पर मौत हो गई थी, जबकि वह खुद और उसके वकील महेंद्र सिंह चौहान गंभीर रूप से घायल हैं। इन दोनों का लखनऊ के केजीएमयू ट्रामा सेंटर में इलाज चल रहा है।

--आईएएनएस



Source : ians

Related News

Leave a Comment