प्रतिशोधी कदमों की समीक्षा करे पाकिस्तान : भारत

नई दिल्ली, 8 अगस्त (आईएएनएस)। पाकिस्तान के फैसले पर भारत ने गुरुवार को अपनी पहली प्रतिक्रिया में कहा कि जम्मू एवं कश्मीर के विशेष राज्य के दर्जे को खत्म करना पूरी तरह से एक आंतरिक मामला है और इस्लामाबाद के उठाए गए कदमों से दुनिया के लिए एक खतरनाक तस्वीर पेश हुई है।

पाकिस्तान द्वारा भारतीय उच्चायुक्त अजय बिसारिया को निष्कासित करने और व्यापार को निलंबित करने की घोषणा के एक दिन बाद भारत ने यह प्रतिक्रिया दी है।

भारत ने कहा कि अनुच्छेद 370 को रद्द करने का फैसला राज्य में विकास लाने के लिए एक प्रतिबद्धता से प्रेरित है, जिसे संविधान में एक अस्थायी प्रावधान के कारण पहले पूरा नहीं किया जा सका था।

भारत ने एक टिप्पणी में कहा कि जम्मू एवं कश्मीर को लेकर ली गई विकासात्मक पहल लोगों में फैले असंतोष को खत्म करने का काम करेगी।

भारत ने आगे कहा कि पाकिस्तान द्वारा इस निर्णय को गलत बताए जाने से उसे कोई आश्चर्य नहीं हुआ है, क्योंकि इन्हीं सभी बातों के कारण इस्लामाबाद सीमा पर आतंकवाद को बढ़ावा देता आया है।

भारत ने कहा कि अनुच्छेद 370 को लेकर लिया गया फैसला पूर्ण रूप से भारत का आंतरिक मामला है।

भारत ने कहा, इस तरह के नजरिए से वह अधिकार-क्षेत्र में अशांति पैदा करने में कभी कामयाब नहीं हो पाएगा।

भारत ने यह भी कहा कि पाकिस्तान के प्रतिशोधी कदम ठीक नहीं हैं, उसे चाहिए कि वह इन पर फिर से विचार करे, ताकि राजनयिक संचार संरक्षित किए जा सके।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment