पाकिस्तान में नहीं दिखाई जाएंगी भारतीय फिल्में

इस्लामाबाद, 8 अगस्त (आईएएनएस)। पाकिस्तान में सूचना और प्रसारण मामलों पर प्रधानमंत्री की विशेष सहायक डॉ. फिरदौस आशिक अवान ने कहा कि अब से कोई भी भारतीय फिल्म पाकिस्तानी सिनेमाघरों में नहीं दिखाई जाएगी।

उन्होंने कहा कि भारत ने जम्मू एवं कश्मीर से विशेष राज्य का अधिकार छीन लिया है, जिसके बाद पाकिस्तान ने यह फैसला किया है कि वह भारत के साथ राजनयिक और सांस्कृतिक संबंधों को कम करने के लिए कदम उठाएगा। इसी के अंतर्गत यह निर्णय लिया गया है।

दुनिया न्यूज टीवी के अनुसार, पाकिस्तानी संसद के बाहर गुरुवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि भारतीय संस्कृति से जुड़ी हर प्रकार की सामग्री को बैन करने के लिए नीति बनाई जा रही है।

उन्होंने कहा कि अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के विरोध में पाकिस्तान कश्मीरियों के समर्थन को लेकर जो बन पड़ेगा वह कदम उठाएगा।

ऐसा पहली बार नहीं हुआ है, जब पाकिस्तान में भारतीय फिल्मों को बैन किया गया हो। सेंसरशिप के माध्यम से सामग्री को लेकर भारत की लगातार सभी बॉलीवुड फिल्मों की रिलीज पर रोक लगाने के अलावा, जब भी भारत-पाकिस्तान के राजनीतिक रिश्ते खराब होते हैं, पाकिस्तान भारतीय फिल्मों की रिलीज पर प्रतिबंध लगा देता है।

हाल ही में पाकिस्तान कई भारतीय फिल्मों पर अलग-अलग कारणों से प्रतिबंध लगा चुका है। राजी, अय्यारी, और परमाणु : द स्टोरी ऑफ पोखरण उन फिल्मों में शामिल हैं, जिन्हें पाकिस्तान राजनीतिक रूप से आपत्तिजनक सामग्री की बात कह कर प्रतिबंधित कर चुका है।

पैडमैन, वीरे दी वेडिंग और परी जैसी फिल्में भी पाकिस्तान में सामान्य हालातों में दिखाने से इनकार कर चुका है।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment