मरयम नवाज भ्रष्टाचार की जांच के लिए गिरफ्तार (लीड-1)

लाहौर, 8 अगस्त (आईएएनएस)। पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की बेटी और पीएमएल-एन की उपाध्यक्ष मरयम नवाज को गुरुवार को पाकिस्तान के भ्रष्टाचार-रोधी दल ने हिरासत में ले लिया।

मरयम को उस समय गिरफ्तार किया गया, जब वह लाहौर की कोट लखपत जेल में अपने पिता से मिलने के बाद लौट रही थीं। समाचार पत्र डॉन की रिपोर्ट के अनुसार, मरयम के चचेरे भाई यूसुफ अब्बास को भी राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (एनएबी) द्वारा गिरफ्तार किया गया है।

एक प्रेस विज्ञप्ति में एनएबी ने कहा कि मरयम नवाज और अब्बास को चौधरी चीनी मिल मामले में गिरफ्तार किया गया है।

प्रधानमंत्री के विशेष सहायक शहजाद अकबर ने बुधवार को कहा कि शरीफ परिवार ने मनी-लॉन्ड्रिंग और अपने शेयरों के अवैध हस्तांतरण के लिए चौधरी चीनी मिलों का इस्तेमाल किया है।

अकबर ने कहा कि मिल के शेयरों को साल 2008 में मरयम नवाज को हस्तांतरित कर दिया गया, जिन्होंने बाद में 2010 में, उनमें से करीब 70 लाख शेयर अब्बास को हस्तांतरित कर दिए।

मरयम को एनएबी ने गुरुवार को इस मामले में बुलाया था, लेकिन वह ब्यूरो के सामने पेश नहीं हुईं और इसके बजाय अपने पिता से मिलने पहुंच गईं।

डॉन अखबार ने पाकिस्तान मुस्लिम लीग (एन) के सूत्रों का हवाला देते हुए कहा कि मरयम नवाज को हिरासत में लिया गया है, क्योंकि उन्हें ब्यूरो के सामने पेश नहीं होने के कारण गिरफ्तारी वारंट जारी किया गया था।

एनएबी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, मरयम नवाज और अब्बास को शुक्रवार को रिमांड के लिए लाहौर में एक अदालत के समक्ष पेश किया जाएगा।

पीएमएल-एन के नेताओं और समर्थकों ने नेशनल असेंबली के बाहर इस कार्रवाई का विरोध किया।

पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के अध्यक्ष बिलावल भुट्टो जरदारी ने गिरफ्तारी की कड़ी निंदा करते हुए इसे प्रतिशोध की राजनीति बताया और सरकार की कड़ी आलोचना की।

मरयम नवाज की गिरफ्तारी के खिलाफ पंजाब विधानसभा में एक प्रस्ताव भी पेश किया गया।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment