मुख्यमंत्री योगी ने किया पौधारोपण महाकुंभ का आगाज

लखनऊ, 9 अगस्त (आईएएनएस)। भारत छोड़ो आंदोलन की 77वीं वर्षगांठ के मौके पर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को लखनऊ के जैतीखेड़ा में हरिशंकरी का पौधा रोपण कर पौधरोपण महाकुंभ का आगाज किया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश भर में एक दिन में 22 करोड़ पौधे लगाने के अभियान पौधारोपण महाकुंभ की शुरूआत की।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, पूरे प्रदेश में 22 करोड़ पौधे लगाए जा रहे हैं। यह प्रकृति का वरदान साबित होंगे। उन्होंने वन विभाग को निर्देशित करते हुए कहा कि हर जिले में 100 वर्ष से अधिक आयु के वृक्ष चिन्हित करें। उन्हें हेरीटेज का दर्जा देकर संरक्षित किया जाएगा। एक बुकलेट भी बनाई जाएगी।

मुख्यमंत्री ने घोषणा की कि अगले वर्ष वन महोत्सव में 25 करोड़ पौधे लगाए जाएंगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यहां खुद पौधारोपण करते हुए पांच ग्रामीण महिलाओं को सहजन के पौधे भी भेंट किए। कार्यक्रम में सांसद मोहनलालगंज कौशल किशोर, वन एवं पर्यावरण मंत्री दारा सिंह चौहान, क्षेत्रीय विधायक एवं राज्यमंत्री स्वाति सिंह, मुख्य सचिव अनूपचंद पांडेय, अपर मुख्य सचिव आलोक सिन्हा, प्रधान मुख्य वन संरक्षक पवन कुमार डीएम कौशलराज शर्मा भी मौजूद थे।

इससे पहले वन एवं पर्यावरण मंत्री दारा सिंह ने चैहान ने बताया कि पौधरोपण कार्यक्रम को प्रदेश के 822 ब्लॉक, 58924 ग्राम पंचायत व 652 नगर निकायों से जोड़ने के लिए माइक्रो प्लान बनाया गया है। इसके तहत ग्रामीणों व किसानों और को उनकी रुचि व जरूरत के मुताबिक पौधों की प्रजाति उपलब्ध कराई जाएगी।

उन्होंने बताया कि पौधरोपण कार्यक्रम के लिए मुख्यमंत्री ने आकस्मिक निधि से 100 करोड़ रुपये उपलब्ध कराए हैं। पौधरोपण कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए सभी विधायक व मंत्रियों को अपने-अपने क्षेत्र में सहयोग देने को कहा गया है।

वन मंत्री ने बताया कि विभाग द्वारा रोपे गए पौधों की प्लांटेशन मॉनिटरिंग सिस्टम, नर्सरी मैनेजमेंट सिस्टम और मोबाइल एप के जरिए की प्रगति देखी जाएगी। पौधों की जियो टैगिंग भी की जाएगी। प्रधानमंत्री आवास योजना, स्वच्छ भारत मिशन, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत पंजीकृत किसानों और विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों को भी पौधारोपण अभियान के साथ जोड़ा जा रहा है। पौधों की सही देखभाल के लिए ट्री गार्जियन भी तैयार कराए गए हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इसके बाद प्रयागराज रवाना हो गए। वहां के परेड ग्राउंड में निशुल्क पौधा वितरण कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे। यहां एक ही स्थान पर सबसे अधिक पौधे वितरित करने का विश्व रिकॉर्ड बनाया जाएगा।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment