कश्मीर मुद्दे पर चर्चा के लिए चीन पहुंचे कुरैशी (लीड-1)

बीजिंग, 9 अगस्त (आईएएनएस)। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी अनुच्छेद 370 के तहत जम्मू एवं कश्मीर को दिए गए विशेष राज्य के दर्जे को समाप्त करने के भारत के फैसले पर चीनी नेतृत्व के साथ विचार-विमर्श करने शुक्रवार को बीजिंग पहुंचे हैं।

बीजिंग हवाईअड्डे पर पहुंचने पर कुरैशी का स्वागत चीन में पाकिस्तान की राजदूत नगमाना हाशमी और विदेश मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों ने किया।

चीन के लिए उड़ान भरने से पहले कुरैशी ने पाकिस्तानी मीडिया से कहा, भारत अपने असंवैधानिक तौर-तरीकों से क्षेत्रीय शांति को बाधित करने पर आमादा है। चीन न केवल पाकिस्तान का मित्र है, बल्कि क्षेत्र का एक महत्वपूर्ण देश भी है।

विदेश मंत्री ने पत्रकारों से कहा कि वह स्थिति पर चीनी नेतृत्व को विश्वास में लेंगे।

उन्होंने कहा, मैं भारत सरकार द्वारा कब्जे वाले कश्मीर में उठाए गए असंवैधानिक कदमों के बारे में चीनी नेताओं को अवगत कराऊंगा। मैं उन्हें कब्जे वाली घाटी में बड़े पैमाने पर मानवाधिकारों के उल्लंघन के बारे में भी बताऊंगा।

कुरैशी के साथ विदेश सचिव सोहैल महमूद और अन्य उच्च अधिकारी भी हैं।

कुरैशी ने गुरुवार को कहा था कि भारत सरकार जम्मू एवं कश्मीर के गंभीर हालात की तरफ से दुनिया का ध्यान हटाने के लिए पुलवामा जैसी आतंकवादी घटना करा सकती है।

इस्लामाबाद में मीडिया को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, हम.. मौजूदा स्थिति से निपटने के लिए राजनीतिक, कूटनीतिक और कानूनी विकल्पों पर विचार कर रहे हैं। पाकिस्तान ने सतर्क रहने का फैसला किया है, क्योंकि भारत कभी भी पुलवामा जैसा झूठा फ्लैग ऑपरेशन शुरू कर सकता है।

उन्होंने कहा, हमें तैयार रहने की आवश्यकता है, क्योंकि भारत किसी भी तरह से प्रतिक्रिया दे सकता है।

--आईएएनएस



Source : ians

Related News

Leave a Comment