कश्मीर में शांति भंग करने वाले को खत्म कर देंगे : सेना

नई दिल्ली, 9 अगस्त (आईएएनएस)। पाकिस्तान की ओर से कश्मीर, भारतीय सेना और भारतीय नेतृत्व को दी जा रही गीदड़ भभकी के बीच भारतीय सेना ने चेतावनी दी है कि कश्मीर में शांति बाधित करने की कोशिश करने वाले किसी भी व्यक्ति को खत्म कर दिया जाएगा।

चिनार कॉर्प्स कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल के. जे. एस. ढिल्लों ने एक टेलीविजन साक्षात्कार में कहा, पाकिस्तान और उसकी सेना हमेशा से घाटी में शांति बाधित करने में संलिप्त रही है और मैं मानता हूं कि वे लगातार ऐसा करेंगे।

उन्होंने कहा, हाल ही में घाटी के बारे में धमकी देने वाले कुछ बयान खुलेआम सामने आए हैं। हर तरह की स्थिति में हम सभी का ख्याल रखेंगे। कोई भी घाटी में शांति को बाधित करने के लिए आता है तो हम उसे खत्म कर देंगे।

उन्होंने पाकिस्तान के इस दावे को भी खारिज कर दिया कि भारतीय सेना ने पिछले सप्ताह नियंत्रण रेखा के पास क्लस्टर बमों का इस्तेमाल किया था। उन्होंने इसे पाकिस्तानी दुष्प्रचार करार दिया।

उन्होंने कहा, वहां पर ऐसा कुछ भी नहीं था। अगर पाकिस्तानी सेना फिर से संघर्षविराम का उल्लंघन करती है तो भारतीय सेना इसका पूरी ताकत से जवाब देगी।

उल्लेखनीय है कि पिछले हफ्ते भारतीय सेना ने केरन सेक्टर में पाकिस्तानी सेना की बॉर्डर एक्शन टीम (बैट) द्वारा किए गए हमले के एक प्रयास को सफलतापूर्वक नाकाम कर दिया था। इस दौरान सेना ने उस टीम के सात-आठ लोगों को मार गिराया था। भारतीय सेना ने पाकिस्तान को शव वापस लेने को कहा, लेकिन पाकिस्तानी सेना ने ऐसा करने से इंकार कर दिया।

कॉर्प्स कमांडर ने यह भी कहा कि शांति और सुरक्षा बनाए रखने के अलावा सेना के जवान गांवों में जाकर लोगों को मोबाइल और सैटेलाइट फोन के जरिए उनके रिश्तेदारों से बात कराने में मदद कर रहे हैं। इसी के साथ सेना उन्हें उपचार और मुफ्त दवाइयां उपलब्ध करा रही है। उन्होंने कहा, घाटी पूरी तरह से शांतिपूर्ण है और घबराने की जरूरत नहीं है।

सरकार द्वारा कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद-370 को निरस्त करने के बाद जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment