राहुल ने खट्टर की टिप्पणी को घिनौना बताया

नई दिल्ली, 10 अगस्त (आईएएनएस)। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा कश्मीरी महिलाओं पर की गई टिप्पणी को कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने शनिवार को घिनौना बताया। उन्होंने कहा कि यह साबित करता है कि आरएसएस का वर्षों का प्रशिक्षण एक व्यक्ति के दिमाग पर क्या असर डालता है।

गांधी ने ट्वीट किया, हरियाणा के मुख्यमंत्री खट्टर की कश्मीरी महिलाओं पर की गई टिप्पणी घृणित है और यह दिखाती है कि आरएसएस का वर्षों का प्रशिक्षण एक कमजोर, असुरक्षित और दयनीय पुरुष के दिमाग पर क्या असर डालता है। महिला पुरुष के लिए कोई संपत्ति नहीं है।

राहुल का यह ट्वीट शुक्रवार को एक कार्यक्रम में खट्टर द्वारा दिए गए विवादित बयान के बाद आया है। खट्टर ने उस कार्यक्रम के दौरान कहा था कि जम्मू-कश्मीर को संविधान के अनुच्छेद 370 के तहत मिले विशेष दर्जे को समाप्त करने के सरकार के कदम के बाद अब शादी के लिए कश्मीरी लड़कियों को लाने का रास्ता साफ हो गया है।

उन्होंने कहा था, पहले बहू बिहार से आती थी, लेकिन अब हम कश्मीर से लड़कियां लाएंगे।

खट्टर की इस टिप्पणी से बड़ा विवाद खड़ा हो गया है।

राहुल के साथ ही कांग्रेस की महिला शाखा की प्रमुख सुष्मिता देब ने कहा कि खट्टर मानसिक रूप से बीमार हैं।

उन्होंने कहा, खट्टर मानसिक रूप से बीमार हैं। यह मेरी कल्पना से परे है कि एक मुख्यमंत्री इस तरह के शब्द बोल सकता है।

देब ने कहा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को चाहिए कि खट्टर को मुख्यमंत्री पद से हटा दें।

उन्होंने कहा कि हरियाणा के पानीपत से ही भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकार की महत्वाकांक्षी योजना बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ की शुरुआत की गई थी।

बता दें कि तीन दिन पहले ही उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर से भाजपा विधायक विक्रम सैनी ने कहा था कि पार्टी कार्यकर्ता अनुच्छेद 370 निष्प्रभावी होने से उत्साहित हैं, क्योंकि अब वे गोरी कश्मीरी लड़कियों से शादी कर सकेंगे।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment