मशीन के बाद गलतियां सुधारने में लगा हूं : मुस्तफा

मुंबई, 10 अगस्त (आईएएनएस)। निर्देशक अब्बास-मस्तान की जोड़ी के अब्बास बर्मावाला के बेटे मुस्तफा ने फिल्म मशीन से बॉलीवुड में डेब्यू किया था, जो बॉक्स ऑफिस पर नाकामयाब साबित हुई थी। अब इस फिल्म के दो साल बाद मुस्तफा शॉर्ट फिल्म द लास्ट मील के साथ अपनी वापसी करने जा रहे हैं।

मुस्तफा ने कहा, द लास्ट मिल एक मां और उसके बेटे की भावनात्मक कहानी है। बेटा एक मिशन पर जाता है और उसे पता रहता है कि वह वापस नहीं लौटेगा। उसकी मां उसे जाने देना चाहती है, लेकिन वह उसे रोकने की कोशिश भी करती है। यह फिल्म साथ में आखिरी बार भोजन करने के दौरान दोनों की आपस में हुई बातचीत के बारे में है।

मुस्तफा ने आगे यह भी कहा, मुझे लगता है कि हर मां और बेटा इस फिल्म से खुद को जोड़ पाएंगे।

फिल्म में मुस्तफा बेटे के किरदार में नजर आएंगे, जबकि मां की भूमिका जरीना वहाब निभाएंगी।

जरीना के साथ काम करने के अपने अनुभव के बारे में मुस्तफा ने कहा, यह काफी बेहतरीन रहा। पूरी शूटिंग के दौरान उन्होंने मुझसे अपने बेटे जैसा बर्ताव किया।

एक अभिनेता, जिसने दो साल पहले बॉलीवुड में कदम रखा था, उसके लिए इस वक्त फीचर फिल्मों पर ध्यान देना ज्यादा महत्वपूर्ण नहीं है? इस पर मुस्तफा ने फीचर फिल्मों की महत्ता को स्वीकारा और इस बात को भी माना कि सही स्क्रिप्ट का चुनाव भी समान रूप से जरूरी है।

मुस्तफा ने कहा, इन दो सालों में मैंने कई स्क्रिप्ट सुने, लेकिन मैं मशीन के जैसा किरदार नहीं करना चाहता। स्क्रिप्ट्स भी उतने अच्छे नहीं थे।

मुस्तफा ने यह भी कहा, मशीन मेरी पहली फिल्म थी और मैंने इसमें अपना सौ प्रतिशत दिया। मैंने हर एक दृश्य में अपना सर्वश्रेष्ठ देने की कोशिश की। फिल्म के असफल होने के बाद मैंने खुद पर काम करना जारी रखा और अपनी गलतियों को सुधारने की कोशिश की।

द लास्ट मील हाल ही में एमएक्स प्लेयर पर शुरू हुई है।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment