विदेशों में रह रहे पाकिस्तानियों से 15 अगस्त को विरोध प्रदर्शन करने की अपील

इस्लामाबाद, 10 अगस्त (आईएएनएस)। प्रधानमंत्री इमरान खान के एक शीर्ष सहायक ने विदेशों में रह रहे पाकिस्तानियों से शनिवार को अपील की और कहा कि वे दुनिया भर में जहां भी हैं, वहां 15 अगस्त को भारतीय दूतावास के बाहर प्रदर्शन करें।

भारत सरकार ने सोमवार को जम्मू एवं कश्मीर के लिए विशेष दर्जे को रद्द कर दिया था। इसके बाद पाकिस्तानी नेतृत्व को कड़ा झटका लगा और दोनों पड़ोसी देशों के बीच तनाव बढ़ गया है।

दुनया न्यूज की रपट के अनुसार, विदेशी व मानव विकास मामलों पर प्रधानमंत्री के विशेष सहायक जुल्फिकार बुखारी ने शनिवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की। राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवाओं के विशेष सहायक जफर मिर्जा के साथ बुखारी ने घोषणा की कि हमें 14 अगस्त को कश्मीरियों के साथ एकजुटता का संदेश देना है।

इस बीच सूचना मामलों पर प्रधानमंत्री की विशेष सहायक फिरदौस आशिक अवान ने श्रंखलाबद्ध ट्वीट्स में दोहराया कि संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने जम्मू एवं कश्मीर की स्थिति के बारे में पाकिस्तान के रुख का समर्थन किया है।

उन्होंने कहा कि इस मुद्दे को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) के प्रस्तावों के माध्यम से हल किया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा, नरेंद्र मोदी का यह कदम लोकतांत्रिक मानदंडों और अंतर्राष्ट्रीय कानून पर हमला है।

दुनया न्यूज की रपट के अनुसार, अवान ने कहा कि चीन ने एक बार फिर कश्मीर विवाद पर इस्लामाबाद के रुख का समर्थन किया है।

पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी और उनके चीनी समकक्ष वांग यी के बीच बैठक के बाद चीनी विदेश मंत्रालय द्वारा जारी एक आधिकारिक बयान में कहा गया है, बीजिंग हाल ही में कश्मीर में बढ़े तनाव को लेकर काफी चिंतित है।

बयान में कहा गया, चीन का मानना है कि एकतरफा कार्रवाई स्थिति को जटिल बनाएगी, जिसे नहीं किया जाना चाहिए।

इस दौरान अवान ने कहा, हम जम्मू-कश्मीर पर पाकिस्तान के रुख का समर्थन करने के लिए अपने सदाबहार दोस्त को धन्यवाद देते हैं।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment