बंगाल के शासन में हस्तक्षेप कर रहे प्रशांत किशोर : भाजपा

कोलकाता, 11 अगस्त (आईएएनएस)। पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने आरोप लगाया है कि राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर राज्य प्रशासन के कामकाज में दखल दे रहे हैं और अतिक्रमण कर रहे हैं। प्रशांत किशोर सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस की छवि के पुननिर्माण के मिशन पर हैं।

भाजपा के राष्ट्रीय सचिव राहुल सिन्हा ने यहां संवाददाताओं से कहा, तृणमूल कांग्रेस ने पार्टी को बचाने के लिए प्रशांत किशोर को अनुबंधित किया है, लेकिन मेरा मानना है कि उनकी कोई सहायता नहीं कर सकता। जिस तरह से किशोर सरकार के कामकाज में दखल दे रहे हैं और आईएएस व आईपीएस अधिकारियों को निर्देश दे रहे हैं वह अस्वीकार्य है।

तृणमूल कांग्रेस ने प्रशांत किशोर व उनकी टीम आई-पीएसी की सेवाओं को लेने का फैसला 2019 के लोकसभा चुनावों की असफलता की पृष्ठभूमि में आया है। 2019 के चुनावों में तृणमूल की संख्या 22 हो गई और पार्टी को 2014 की तुलना में दर्जन भर सीटों का नुकसान हुआ है।

तृणमूल महासचिव व शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने भाजपा के आरोपों का खंडन किया।

चटर्जी ने कहा, राजनीतिक पार्टी के कार्य को सरकार के कार्यो से मिलाने की कोई जरूरत नहीं है। दोनों कार्य साथ-साथ चलेंगे। इस तरह के आरोपों में कोई सच्चाई नहीं है।

तृणमूल नेता के अनुसार, मोदी लहर धीरे-धीरे खत्म हो रही है। इसलिए वे इस तरह की टिप्पणी का सहारा ले रहे हैं।

चटर्जी ने कहा, नरेंद्र मोदी के नाम पर वोट मांगने से मदद नहीं मिलेगी। उन्हें अपने लिए वोट मांगना चाहिए, लेकिन भाजपा ने बंगाल में क्या कार्य किया जिससे उन्हें वोट मांगने में मदद मिलेगी। इसके साथ ही उन्हें किसी तरह की टिप्पणी करने से पहले तथ्यों को पता कर लेना चाहिए।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment