भाजपा ने चिदंबरम की कश्मीर पर टिप्पणी की निंदा की

नई दिल्ली, 12 अगस्त (आईएएनएस)। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने सोमवार को वरिष्ठ कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम की उस टिप्पणी को दुर्भाग्यपूर्ण बताया, जिसमें उन्होंने (चिदंबरम ने) कथित तौर पर कहा कि अगर कश्मीर हिंदू बहुल राज्य होता तो भाजपा अनुच्छेद 370 को रद्द नहीं करती।

केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने संवाददाताओं से कहा, उनके (चिदंबरम) द्वारा दिया गया बयान गैर जिम्मेदाराना है और यह लोगों को भड़काने के लिए दिया गया है।

उन्होंने कहा कि कश्मीर में बीते 70 सालों में बहुत से लोग मारे गए हैं।

कांग्रेस नेता पर निशाना साधते हुए प्रसाद ने कहा, क्या यह सही नहीं है कि फैयाज खान का अपहरण कर हत्या कर दी गई, क्या यह सही नहीं है कि औरंगजेब, जो एक बहादुर सैनिक थे, उनकी आतंकवादियों ने हत्या कर दी? चिदंबरम किस बारे में बात कर रहे हैं?

रविशंकर प्रसाद लेफ्टिनेंट उमर फैयाज का जिक्र कर रहे थे, जो कश्मीर के एक युवा सेना अधिकारी थे, जिनका आतंकवादियों ने अपहरण किया और फिर हत्या कर दी थी। फैयाज 2017 में शोपियां जिले में एक शादी समारोह में भाग लेने गए थे। इसके साथ ही उन्होंने राइफलमैन औरंगजेब का जिक्र किया, जिनका आतंकवादियों ने 2018 में पुलवामा में अपहरण किया और हत्या कर दी।

प्रसाद ने कहा, यह कदम (अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी करना) सभी कश्मीरियों के फायदे के लिए लिया गया है क्योंकि अनुच्छेद 370 के नाम पर कश्मीर के मुस्लिम भी कष्ट सह रहे थे और अन्याय का सामना कर रहे थे।

भाजपा नेता ने कहा कि अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी करने का फैसला जम्मू एवं कश्मीर के लोगों व भारत के लोगों के विकास के पक्ष में लिया गया है।

चेन्नई में रविवार को एक समारोह में चिदंबरम ने कथित तौर पर कहा कि भाजपा सरकार ने अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी कर दिया, क्योंकि यह एक मुस्लिम बहुल राज्य था और अगर कश्मीर हिंदू बहुल होता तो भाजपा इसे (अनुच्छेद 370) को नहीं हटाती।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment