बिहार के स्कूलों में पढ़ाया जाएगा पानी बचाने का पाठ

पटना, 13 अगस्त (आईएएनएस)। सूखे व पानी की समस्या दूर करने के लिए अब बिहार के स्कूलों में पानी बचाने का पाठ पढ़ाया जाएगा। स्कूलों में शिक्षक छात्रों को जल संरक्षण के महत्व के बारे में बताएंगें।

अधिकारियों का कहना है कि बच्चों को जल संचयन को लेकर जागरूक किया जाएगा, जिसके बाद वह इस गंभीर मसले पर अपने परिवार और पड़ोसियों को भी जागरूक कर सकेंगे।

बिहार शिक्षा परियोजना परिषद के निदेशक संजय सिंह ने मंगलवार को बताया कि सभी जिला शिक्षा अधिकारी (डीईओ) को स्कूलों में जल संरक्षण को लेकर शैक्षणिक गतिविधियां करने के निर्देश दिए गए हैं।

उन्होंने बताया कि छात्र-छात्राओं के बीच जल संरक्षण और जल के महत्व विषय पर चित्रांकन, निबंध और प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिताएं आयोजित करने का निर्देश दिया गया है। इससे बच्चों में जल संचयन को लेकर उत्सुकता बढ़ेगी। सिह ने बताया कि प्रतियोगिता में सर्वश्रेष्ठ स्थान प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों को पुरस्कृत कर उनका हौसला बढ़ाया जाएगा।

शिक्षा विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि इसके लिए प्रारंभिक, माध्यमिक और उच्च माध्यमिक विद्यालयों में होने वाली प्रतियोगिता के विषयों का भी चयन कर लिया गया है। इसमें जल संचयन प्रणाली, सोख्ता, जलचक्र सहित विभिन्न विषय चयनित किए गए हैं।

विभागीय सूत्रों का कहना है कि जल संचयन को लेकर पुस्तकों की पाठ्य सामग्री में भी बदलाव करने की योजना बनाई गई है। अब पाठ्य सामग्री में जल संचय को शामिल कर बच्चों को इसकी विस्तृत जानकारी दी जाएगी।

विद्यालय शिक्षा समितियों की बैठक में भी जल संचय और जल सरंक्षण पर चर्चा करने का निर्देश दिया गया है, जिससे समाज के लोगों को भी पानी बचाने को लेकर जागरूक किया जा सके।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment