उप्र में फर्जी शस्त्र लाइसेंस बनाने वाले गिरोह का भंडाफोड़

गाजियाबाद, 13 अगस्त (आईएएनएस)। स्थानीय पुलिस ने हथियारों के फर्जी लाइसेंस बनाने वाले एक बड़े गिरोह का भंडाफोड़ किया है। यह गिरोह शाहजहांपुर जिलाधिकारी कार्यालय के कुछ संविदा कर्मचारियों के साथ मिलकर हथियारों के फर्जी लाइसेंस बनाने का काला कारोबार करता था। गिरोह के पास से पुलिस ने कई हथियार, फर्जी आर्म्स लाइसेंस और करीब एक लाख रुपये जब्त किए हैं। इस सिलसिले में कवि नगर थाना पुलिस ने आपराधिक मामला दर्ज किया है।

गिरफ्तार दलालों के पास से फर्जी आर्म्स लाइसेंस की फोटो कॉपी, 12 बोर की एक रिपीटर बंदूक, .32 बोर के पांच पिस्तौल और हरियाणा नंबर प्लेट की एक कार जब्त की गई है। गिरफ्तार पांच दलालों के नाम फुरकान (विजय नगर, गाजियाबाद), संजय गर्ग (सेक्टर 12 प्रताप विहार, गाजियाबाद), विनोद (सर्वोदय नगर, गाजियाबाद), हरिशंकर अवस्थी (खुटार, शाहजहांपुर) और सदानंद शर्मा (पुवांया, शाहजहांपुर) हैं।

गाजियाबाद पुलिस के मुताबिक, गैंग के सरगना पवनेश गौतम और श्याम बिहारी अभी फरार हैं। ये दोनों जिलाधिकारी शाहजहांपुर के कार्यालय में संविदा क्लर्क हैं। इन्हीं दोनों की मदद से फर्जी लाइसेंस का यह गोरखधंधा चल रहा था। पूछताछ में गिरोह के सरगना ने कबूला है कि गिरोह के सदस्य एक फर्जी हथियार लाइसेंस बनबाने के एवज में 5 से 10 लाख रुपये तक ऐंठते थे।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment