स्वतंत्रता दिवस पर कर्नाटक में 8,000 लोग हुए एकत्रित (लीड-1)

बेंगलुरु, 15 अगस्त (आईएएनएस)। कर्नाटक में गुरुवार को कड़ी सुरक्षा के बीच देश के 73वें स्वतंत्रता दिवस मनाया गया।

इस एक-दिवसीय समारोह का आयोजन शहर के फील्ड मार्शल मानेकशॉ परेड ग्राउंड में किया गया। एक आर्मी हेलीकॉप्टर द्वारा ग्राउंड पर गुलाब की पंखुड़ियां बरसाई गई जिसके बाद कार्यक्रम की शुरूआत राष्ट्रगान और ध्वजारोहण के साथ हुई।

इस मौके पर यहां कुल 8,000 लोग एकत्रित हुए जिनमें पुरूषों के साथ-साथ महिलाएं भी शामिल थीं।

इस अवसर पर लोगों को संबोधित करने से पहले सफेद सफारी सूट में येदियुरप्पा ने कड़ी सुरक्षा के बीच खुली जीप में मैदान के चारों ओर गार्ड ऑफ ऑनर का निरीक्षण किया और थल, जल व वायु सेनाकर्मियों व राज्य पुलिस बल से सलामी ली।

कार्यक्रम में सेना की तीनों टुकड़ियों (थल सेना, जल सेना और वायु सेना) के साथ राज्य रिजर्व पुलिस, नेशनल कैडेट कोर (एनसीसी), होम गार्ड, भारत स्काउट्स और गाइड और शहर में स्थित करीब सौ स्कूलों के छात्र-छात्राओं ने मिलकर अपने-अपने यूनिफॉर्म में शानदार परेड किया।

मुख्यमंत्री के भाषण और परेड के बाद स्कूल के लगभग 2500 बच्चों ने स्वतंत्रता संग्राम के कई दृश्यों का नाटकीय रूप से प्रदर्शन किया जिनमें अंग्रेजों के साथ अहिसंक संघर्षो व विरोध प्रदर्शन के दृश्य भी शामिल थे।

पारंपरिक परिधानों में लगभग सौ युवा कलाकारों ने लोक नृत्य और गीत के साथ सांस्कृतिक कार्यक्रमों का मंचन किया जिनमें सारे जहां से अच्छा और ऐ मेरे वतन के लोगों जैसे देशभक्ति गीतों के माध्यम से शहीदों के बलिदान को दिखाया गया।

संगीत, नृत्य और संक्षिप्त नाटकों के माध्यम से युवाओं ने स्वतंत्रता सेनानियों के जीवन को दर्शाया जिन्होंने 19वीं शताब्दी में अंग्रेजी सेना के खिलाफ विद्रोह किया, आजादी की इस लड़ाई में कर्नाटक के संगोली रायण्णा और कित्तूर रानी चेनम्मा ने भी भाग लिया था।

सैनिकों और राज्य पुलिस की टीम द्वारा मार्शल आर्ट्स, साहसिक करतब और मोटसाइकिल पर हवाई करतब को देख वहां मौजूद लोग चकित रह गए।

बाद में, येदियुरप्पा ने चयनित पुलिस अधिकारियों को राष्ट्रपति के मेडल और वीरता का पुरस्कार देकर उन्हें सम्मानित किया और समारोह में प्रतिभागी संगठनों को भी पुरस्कार दिया गया।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment