धोनी-फ्लेमिंग की कप्तान-कोच की सर्वश्रेष्ठ जोड़ी : वॉटसन

चेन्नई, 15 अगस्त (आईएएनएस)। शेन वॉटसन ने कहा है कि तमिलनाडु टी-20 प्रीमियर लीग (टीएनपीएल) राज्य के युवा खिलाड़ियों के लिए अपने आप को साबित करने का बेहतरीन मंच है। वाटसन का मानना है कि यह लीग विश्व की सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट लीगों में से एक है।

टीएनपीएल पर वॉटसन ने कहा, मैं इस बात को देखकर हैरान हूं कि यह टूर्नामेंट कितने शानदार तरीके से आयोजित किया गया है। यहां की क्रिकेट का स्तर काफी शानदार है। यह तमिलनाडु में मौजूद युवा खिलाड़ियों के लिए बेहतरीन मौका है कि वो अपनी प्रतिभा को दिखा सकें।

हरफनमौला खिलाड़ी ने कहा, आने वाली पीढ़ी के लिए यह अहसास करना जरूरी है कि उनके सामने एक शानदार मौका है। इसलिए मुझे लगता है कि यह युवा खिलाड़ियों को बताने का बेहतरीन साधन है कि उनके सपने उनकी पहुंच में हैं।

वॉटसन ने कहा है कि इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की उनकी टीम चेन्नई सुपर किंग्स भी इसलिए बेहतरीन है क्योंकि वहां का प्रबंधन शानदार है जिसका श्रेय वाटसन ने मालिकाना हक रखने वाले एन.श्रीनिवासन, कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और कोच स्टीफन फ्लेमिंग को दिया है।

उन्होंने कहा, मेरा चेन्नई सुपर किंग्स के साथ अनुभव शानदार रहा है। मैंने कई टी-20 टीमों में खेला है चाहे वो भारत में हो या विश्व के अन्य कोने में। इसमें कोई शक नहीं है कि चेन्नई में जिस तरह काम होता है वह बेहद आसानी से होता है और मैदान के अंदर तथा बाहर जिस तरह से यह टीम अपना कार्य करती है उसमें भी किसी तरह की परेशानी नहीं होती। इस तरह की चीजें नेतृत्व करने वालों पर निर्भर करती हैं। श्रीनिवासन ने जिस तरह धोनी और फ्लेमिंग को टीम को चलाने की मंजूरी दी है वो गजब है। मुझे लगता है कि धोनी और फ्लेमिंग की जोड़ी विश्व में कप्तान और कोच की सर्वश्रेष्ठ जोड़ी है।

वॉटसन अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले चुके हैं लेकिन अलग-अलग देशों की टी-20 लीगों में लगातार खेल रहे हैं। इस पूर्व आस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ने कहा कि खेल के प्रति प्यार के कारण ही वह अभी तक खेल रहे हैं।

उन्होंने कहा, मुझे खेल से प्यार है और इसलिए मैं लगातार खेलता जा रहा हूं। मुझे खेलना बेहद पसंद है। मेरे करियर के दौरान मुझे जो अलग-अलग टीमों से खेलने का मौका मिला वो पसंद है। अब मैं कुछ शानदार फ्रेंचाइजियों के साथ कुछ बेहतरीन टूर्नामेंट्स में खेल रहा हूं। निश्चित तौर पर मैं अभी भी सीख रहा हूं। मुझे चुनौतियां पसंद हैं। धोनी और फ्लेमिंग को जानना मेरे करियर के बेहतरीन लम्हों में से एक है।

वॉटसन से जब पूछा गया कि क्या आस्ट्रेलिया मौजूदा एशेज सीरीज में 2-0 की बढ़त लेने में सफल रहेगी तो इस खिलाड़ी ने कहा, यह खयाली पुलाव है। घर से बाहर जीतना काफी मुश्किल होता है। सिर्फ एशेज में नहीं, अब कई टीमों का घर से बाहर जीतना नामुमकिन सा लगता है। हमें पहला मैच जीतकर जो शुरुआत मिली वो अच्छी है। खासकर स्टीव स्मिथ की फॉर्म, उनका वापस आना और आते ही एक तरफा पारी खेल टीम को जिताना वो गजब है। इंग्लैंड कुछ समय पैनिक हो जाती है। यह अब उनका एक टीम के तौर पर टेस्ट है कि वह विश्व कप जीतने के बाद किस तरह से दोबारा चीजों को अपने पक्ष में मोड़ती है।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment