एलजीबीटीक्यू यूट्यूबर्स ने भेदभाव को लेकर प्लेटफार्म पर किया मुकदमा

सैन फ्रांसिस्को, 15 अगस्त (आईएएनएस)। एलजीबीटीक्यू यूट्यूबर्स के एक समूह ने वीडियो शेयररिंग प्लेटफार्म और उसकी पैरेंट फर्म गूगल पर घृणा फैलाने वाले कंटेट के खराब मॉडरेशन और एलजीबीटीक्यू क्रिएटर्स के वीडियो को गलत तरीके से प्रतिबंधित करने को लेकर मुकदमा दर्ज कराया है।

सीएनईटी में बुधवार को प्रकाशित रिपोर्ट में कहा गया, केलिफोर्निया के उत्तरी जिले में अमेरिकी जिला न्यायालय में दाखिल इस मुकदमे के मुताबिक, साल 2016 से ही यूट्यूब और गूगल गैरकानूनी कंटेंट विनियमन, वितरण, और विमुद्रीकरण में लिप्त रही है, जिससे एजीबीटीक्यू प्लस वादियों और संपूर्ण एलजीबीटीक्यू प्लस समुदाय को कलंकित, प्रतिबंधित, ब्लॉक करना, निंदा करना और वित्तीय रूप से हानि पहुंचाया जा रहा है।

रिपोर्ट में कहा गया कि एक यूट्यूबर ने साइट पर पोस्ट किए गए एक वीडियो में इस मुकदमे की जानकारी देते हुए कहा, उन्होंने हमारे गौरव की छीन लिया, उन्होंने हमें विज्ञापन खरीदने की अनुमति नहीं दी, उन्होंने हमें बाधित किया। उन्होंने हमें मुद्रीकरण करने से रोका, और वे हमारे समर्थन में खड़े नहीं हुए।

इन क्रिएटर्स में ब्रिया काम और क्रिसी चेम्बर्स ऑफ ब्रियाएंडक्रिसी शामिल है।

क्रिसी चेम्बर्स ऑफ ब्रियाएंडक्रिसी का एलजीबीटीक्यू दर्शकों के लिए एक चैनल है, जिनका दावा है कि यूट्यूब ने गलत तरीके से उनके वीडियो को प्रतिबंधित कर दिया, इसलिए उसे देखने वालों की संख्या सीमित हो गई और वे इससे जितने पैसे कमा सकते थे, नहीं कमा पाए।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment