आंध्र प्रदेश में लड़के के साथ भागने पर नाबालिग लड़की की बेरहमी से पिटाई

अमरावती, 17 अगस्त (आईएएनएस)। एक भयावह घटना में, आंध्र प्रदेश के अनंतपुर जिले में एक युवक के साथ घर से भागने पर एक नाबालिग दलित लड़की को गांव के एक बुजुर्ग ने बेरहमी से पीटा।

घटना केपी हॉल गांव में गुरुवार को हुई लेकिन शुक्रवार देर रात वीडियो वायरल होने के बाद यह मामला सामने आया।

17 वर्षीय लड़की को 70 वर्षीय बोया लिंगप्पा ने एक ग्राम पंचायत के दौरान पीटा था, जिसमें उसे और उसके 20 वर्षीय चचेरे भाई साई किरण को घर से भागने और परिवार और गांव को बदनाम करने के आरोप में कटघरे में खड़ा किया गया था।

पंचायत में, दोनों को सभी ग्रामीणों के सामने बैठने के लिए कहा गया और अपनमानित किया गा। युवक के साथ संबंध तोड़ने से मना करने पर लिंगप्पा ने नाबालिग लड़की को पीटना शुरू कर दिया, पहले उसने उसे हाथों से और फिर छड़ी से पीटा। उसने उसे लात भी मारी। उसने साई किरण की भी पिटाई की।

10 दिन पहले लड़के के साथ भागने के बाद लड़की के माता-पिता ने लिंगप्पा से संपर्क किया था। जब दोनों वापस लौटे, तो लिंगप्पा को पंचायत करने के लिए बुलाया गया।

अनंतपुर के जिला पुलिस अधीक्षक बी. सत्या येसु बाबू ने कहा कि उन्हें लड़की या युवक के माता-पिता से कोई शिकायत नहीं मिली है। हालांकि, वीडियो साक्ष्य के आधार पर लिंग्प्पा के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 324 (स्वेच्छा से खतरनाक हथियारों या साधनों से चोट पहुंचाने) के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

हालांकि, आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया गया क्योंकि ग्रामीणों ने कथित तौर पर पुलिस स्टेशन के बाहर विरोध प्रदर्शन करने की धमकी दी थी। ग्रामीणों ने यह दावा करते हुए कि यह उनका पारिवारिक मामला है, पुलिस को मामले से दूर रहने के लिए कहा।

लड़की नाबालिग है इसलिए साई किरण के खिलाफ पोक्सो अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया जा सकता है।

--आईएएनएस



Source : ians

Related News

Leave a Comment