पाक आयातकों ने वाघा के रास्ते माल ढुलाई पर स्थिति स्पष्ट करने को कहा

इस्लामाबाद, 18 अगस्त (आईएएनएस)। जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को खत्म किए जाने के बाद नई दिल्ली के साथ द्विपक्षीय व्यापार स्थगित करने के इस्लामाबाद के फैसले के बाद पाकिस्तानी आयातकों ने वाघा/अटारी संयुक्त जांच चौकी के रास्ते भारत से माल ढुलाई की स्थिति को स्पष्ट करने का आग्रह किया है।

डॉन की रविवार की रपट के मुताबिक, हालांकि वाणिज्य डिविजन ने शुक्रवार को स्पष्ट किया कि भारत के साथ व्यापार निलंबन का निर्णय उन सामानों पर लागू नहीं होगा, जो समुद्री मार्ग के माध्यम से पहले से ही रास्ते में हैं, लेकिन वह यह स्पष्ट करने में विफल रहा है कि जमीनी मार्ग से पाकिस्तान जाने वाले माल पर उसका क्या रुख है।

वाणिज्य मंत्रालय में व्यापार नीति महानिदेशक को भेजे गए एक पत्र में, लाहौर चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (एलसीसीआई) ने उनसे आयातकों को नुकसान से बचाने और उन्हें उन सामानों को भी समुद्र के रास्ते लाने की अनुमति देने का आग्रह किया है, जो पहले से रेल के जरिए रास्ते में हैं।

एक आयातक ने नाम न उजागर करने की शर्त पर कहा, इसी सिद्धांत को अपनाकर उन सभी सामानों के लिए अनुमति दी जानी चाहिए, जिनके लिए एलसी (लेटर्स ऑफ क्रेडिट) तैयार हो गए हैं या नौ अगस्त से पहले बीएल (बिल ऑफ लेडिंग) जारी कर दिए गए हैं।

चैंबर ने मंत्रालय से यह भी कहा है कि वह बैंकों को निर्देश दे कि वह भारत के साथ व्यापार संबंधों को निलंबित करने से पहले किए गए शिपमेंट का भुगतान एलसी और बैंक कॉन्ट्रैक्ट के माध्यम से बिना किसी देरी के जारी करे।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment