खुफिया एजेंसियों की नजरें जम्मू एवं कश्मीर के राजनीतिक दलों पर

जम्मू/श्रीनगर, 19 अगस्त (आईएएनएस)। अफवाहें फैलाकर तनाव पैदा करने वालों के खिलाफ कार्रवाई में बड़ी सफलता के तहत जम्मू एवं कश्मीर तथा केंद्रीय खुफिया एजेंसियों ने अलगाववादी विचारधाराओं के साथ मुख्यधारा की राजनीतिक पार्टियों के सहयोगियों और कार्यकर्ताओं की पहचान करने का दावा किया है।

खुफिया एजेंसियां अपने उस बयान पर अभी भी कायम हैं कि मुख्यधारा की कुछ राजनीतिक पार्टियों और अलगाववादियों ने राज्य में शांति स्थापित करने के खिलाफ काम किया।

खुफिया विभाग के एक शीर्ष अधिकारी ने आईएएनएस से कहा, अफवाहें अच्छी तरह से फैलाई गईं। इससे जम्मू में लोगों में कर्फ्यू का डर बैठ गया और वे पेट्रोल पंपों तथा किराना स्टोरों पर उमड़ पड़े।

उन्होंने कहा, प्रशासन लोगों को बहुत मुश्किल से यह समझा पाया कि ये सिर्फ आधारहीन अफवाहें हैं।

अधिकारी ने कहा, हमने जम्मू में मुख्यधारा की एक राजनीतिक पार्टी के समर्थकों और कार्यकर्ताओं को चिह्नित किया है।

उन्होंने कहा कि कश्मीर घाटी तथा जम्मू क्षेत्र में अफवाहें फैलाने वालों में मुख्यधारा की तीन राजनीतिक पार्टियों के लोग हैं। इन पार्टियों के शीर्ष नेतृत्व को संविधान के अनुच्छेद 370 को खत्म करने के बाद से एहतियातन हिरासत में लिया गया है।

अधिकारी ने कहा, इन कार्यकर्ताओं और अलगाववादी समर्थकों ने बेवकूफाना हरकत की है। उन्हें लगा कि हम अलगाववादियों पर फोकस करेंगे और वे अपने मकसद में सफल हो सकते हैं।

उन्होंने कहा, उनकी पहचान कर ली गई है और जल्द ही उन्हें अलग-थलग किया जाएगा।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment