नेटफ्लिक्स, एमाजॉन को भारत में देशी शो बनाने की जरूरत क्यों

नई दिल्ली, 25 अगस्त (आईएएनएस)। भारतीय मनोरंजन दृश्यों में 30 से भी अधिक ओवर द टॉप (ओटीटी) प्लेटफॉर्म पर खुद को औरों से अलग पेश करने की होड़ में काफी बदलाव देखा जा सकता है।

एक रिपोर्ट में कहा गया है कि अपने प्लेटफॉर्म पर अधिक लोगों को आकर्षित करने के लिए नेटफ्लिक्स और एमाजॉन प्राइम को अब और भी भारतीय देशी कंटेट लाने की जरूरत है।

केपीएमजी की रिपोर्ट इंडियाज डिजिटल फ्यूचर : मास ऑफ इंचेज के अनुसार, एक टीवी वाले परिवारों की बहुलता वाले इस देश में, पारिवारिक दर्शकों की तुलना में ओटीटी सेवाएं व्यक्तिगत दर्शकों को अधिक आकर्षित करती हैं।

भारतीय भाषाई इंटरनेट यूजर्स के 2016 में 23.4 करोड़ से बढ़कर साल 2021 में 53.6 करोड़ होने की उम्मीद है।

चूंकि, भारत में 10 नए इंटरनेट यूजर्स में से नौ भारतीय भाषा के यूजर्स हैं, इसलिए ओटीटी प्लेटफॉर्म्स के लिए अपने इन यूजर्स के लिए उनकी मूल भाषा में शो उपलब्ध कराना महत्वपूर्ण है।

ओटीटी प्लेटफार्मों ने क्षेत्रीय विषय-वस्तु (कंटेंट) की एक लाइब्रेरी बनाने पर ध्यान केंद्रित करना शुरू कर दिया है, जिसमें पिछले 12-18 महीनों की ओरिजनल फिल्में शामिल हैं।

ज्यादातर वीडियो-ऑन-डिमांड (वीओडी) प्लेटफार्मो, क्षेत्रीय भाषाओं में कंटेंट उपलब्ध कराते हैं।

रिपोर्ट में बताया गया है, हालांकि डबिंग इन प्लेटफॉर्म्स के लिए प्रभावकारी टूल है, जिससे वे ओरिजनल कंटेंट को क्षेत्रीय भाषाओं जैसे तमिल, तेलुगू, बांग्ला, कन्नड़, मलयालयम और मराठी में डब कर अपने यूजर्स के सामने पेश करते हैं।

उदाहरण के लिए प्राइम वीडियो ने अपने ओरिजनल कंटेंट जैसे इनसाइड एज और ब्रिद को तमिल और तेलुगू में डब किया है।

इसी तरह हॉटस्टार ने हिंदी वेब-सीरीज क्रिमिनल जस्टिस को छह क्षेत्रीय भाषाओं, तमिल, तेलुगू, कन्नड़, बांग्ला, मलयालम और मराठी में लॉन्च करने के लिए डबिंग का उपयोग किया है।

रिपोर्ट में कहा गया है, नेटफ्लिक्स और एमाजॉन प्राइम जैसे ओटीटी प्लेटफॉर्म्स ने क्षेत्रीय वेब श्रृंखला शुरू करने के साथ ही अंग्रेजी के संवादों में प्रासंगिक क्षेत्रीय स्वाद जोड़ने के लिए लेखकों हायर करना शुरू कर दिया है।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment