पाकिस्तान : पंजाब विधानसभा सचिवालय को प्रियंका चोपड़ा के खिलाफ प्रस्ताव सौंपा

लाहौर, 25 अगस्त (आईएएनएस)। पाकिस्तान के पंजाब प्रांत की विधानसभा के सचिवालय को भारतीय अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा को संयुक्त राष्ट्र सद्भावना दूत के पद से नहीं हटाने के खिलाफ एक निंदा प्रस्ताव सौंपा गया है।

एक्सप्रेस न्यूज की रिपोर्ट में यह जानकारी देते हुए बताया गया है कि मुख्य विपक्षी दल पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज) की विधायक सुमैरा कोमल ने यह प्रस्ताव सौंपा है। इसमें उन्होंने कहा है कि दो परमाणु संपन्न देशों के बीच नफरत और युद्ध का समर्थन करने के कारण प्रियंका चोपड़ा संयुक्त राष्ट्र संस्था यूनिसेफ की सद्भावना दूत बने रहने का अधिकार खो चुकी हैं, इसके बावजूद संयुक्त राष्ट्र ने उन्हें उनके पद से नहीं हटाया है। इसमें मांग की गई है कि संयुक्त राष्ट्र प्रियंका को उनके पद से नहीं हटाने के अपने फैसले पर पुनर्विचार करे।

इस प्रस्ताव में कहा गया है कि चरमपंथियों, घृणा और जंगी जुनून के समर्थकों को शांति का कोई पद रखने का कोई हक नहीं है।

गौरतलब है कि प्रियंका ने पुलवामा में पाकिस्तान समर्थित आतंकियों के हमले के जवाब में पाकिस्तान के बालाकोट में भारतीय वायुसेना की कार्रवाई को सराहा था। पाकिस्तान ने इसे ही युद्ध के समर्थन के रूप में प्रचारित किया और प्रियंका को यूनिसेफ सद्भावना दूत के पद से हटाने की मांग की। इस पर संयुक्त राष्ट्र ने पाकिस्तान को करारा जवाब देते हुए साफ कर दिया कि प्रियंका को उनके पद से हटाने का सवाल नहीं है। कोई भी सद्भावना दूत अपनी निजी हैसियत में किसी मुद्दे पर अपने निजी विचार व्यक्त करने का अधिकार रखता है।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment