अलगाववादी नेता गिलानी ने लोगों से की संयम बरतने की अपील

श्रीनगर, 25 अगस्त (आईएएनएस)। ऑल पार्टी हुर्रियत कान्फ्रेंस के अध्यक्ष सैयद अली शाह गिलानी ने जम्मू-कश्मीर के लोगों से संयम बरतने की अपील की है। हालांकि उन्होंने केंद्र सरकार पर अंतर्राष्ट्रीय कानून तोड़ने और जबरन जनसांख्यिकी बदलाव लाने का आरोप लगाया है।

उन्होंने शुक्रवार को जारी एक बयान में कहा कि लोगों को अपने-अपने इलाकों में शांतिपूर्ण प्रदर्शन करना चाहिए।

कट्टरपंथी अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी कश्मीर का पाकिस्तान के साथ विलय की वकालत करते हैं।

उन्होंने कहा, ऐसा (प्रदर्शन) करते समय हमें पूरी तरह से अनुशासित रहना चाहिए और हथियार से लैस दुश्मन को मौका नहीं देना चाहिए कि किसी भी गलती पर वे हमारे जान-माल को नुकसान पहुंचाए।

गिलानी (89) ने कहा, हर व्यक्ति को साहस के साथ भारत की नग्न क्रूरता का सामना करना चाहिए। हम अपनी क्षमता के अनुसार अपने कार्यो व शब्दों से ऐसा कर सकते हैं। यह लाजिमी है कि हमारा प्रदर्शन पूरी तरह शांतिपूर्ण हो ताकि इसमें अधिक से अधिक लोग शामिल हो सकें।

उन्होंने कहा, अगर भारतीय सशस्त्र बल फिर भी हमारे जमावड़े पर हमला करता है तो इससे हमें होने वाले जान-माल के नुकसान की पूरी जिम्मेदारी उन पर होगी और दुनिया उनके कृत्यों को देखेगी।

केंद्र सरकार द्वारा भारतीय संविधान में जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा प्रदान करने वाला अनुच्छेद 370 को पांच अगस्त को निरस्त करने के बाद से ही जम्मू-कश्मीर में जारी प्रतिबंधों का हलावा देते हुए गिलानी ने कहा कि उनको उम्मीद है कि अंतर्राष्ट्रीय मीडिया के जरिए उनका संदेश लोगों तक पहुंचेगा।

उन्होंने पाकिस्तान और उसके नेताओं से कश्मीर के लोगों की मदद करने की अपील की।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment