छात्रा के अपहरण मामले में पूर्व गृह राज्यमंत्री चिन्मयानंद के खिलाफ मुकदमा दर्ज

पुलिस अधीक्षक (एसपी) डॉ. एस. चिनप्पा बताया कि 22 अगस्त को स्वामी चिन्मयानंद के वाट्सएप नंबर पर मैसेज आया, जिसमें उनसे पांच करोड़ की रंगदारी मांगी गई थी। उस प्रकरण में अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था। इसके बाद 24 अगस्त को एक वीडियो सामने आया, जिसमें एक छात्रा स्वामी पर आरोप लगा रही थी।

डॉ. चिनप्पा ने बताया कि रविवार को छात्रा के परिजनों ने चौक कोतवाली पहुंचकर तहरीर दी थी, जिसमें उन्होंने कहा कि स्वामी चिन्मयानंद ने उनकी बेटी को अगवा करा दिया है।

छात्रा के परिजनों ने अपनी तहरीर में स्वामी चिन्मयानंद व अन्य लोगों पर वीडियो के आधार पर दुष्कर्म, शारीरिक शोषण और अपहरण समेत कई गंभीर आरोप लगाए थे।

गौरतलब है कि बीते दिनों 24 अगस्त की शाम एसएस लॉ कालेज की एलएलएम की छात्रा ने एक वीडियो वायरल कर स्वामी पर शारीरिक शोषण व दुष्कर्म के आरोप लगाए थे। उसके बाद से वह लापता है।

एसपी ने कहा कि जरूरत पड़ी तो स्वामी से पूछताछ भी की जाएगी। पहले रंगदारी मांगे जाने की तहरीर आई थी, जिसके आधार पर रिपोर्ट दर्ज की गई। उसके बाद छात्रा के परिजनों की तहरीर आई तो उसी दिन से उसे तलाशने के लिए तीन टीमें लगा दी गईं।

एसपी ने बताया कि छात्रा को सुरक्षित बरामद करने का प्रयास हो रहा है। छात्रा के पिता को सुरक्षा दे दी गई है। रिपोर्ट दर्ज करने में किसी तरह की लापरवाही या देरी नहीं की गई है। रंगदारी मांगने के मामले में भी जांच चल रही है। इस प्रकरण में एक को हिरासत में लिया गया है।

ज्ञात हो कि पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद आठ साल बाद फिर विवादों में फंस गए हैं। पहले उनकी शिष्या ने दुष्कर्म का आरोप लगाकर मुकदमा दर्ज कराया था। इस बार उनके कॉलेज की छात्रा ने गंभीर आरोप लगाए। उसके लापता होने पर स्वामी चिन्मयानंद पर अपहरण का मुकदमा दर्ज किया गया है।

जून 2011 में उनकी उनकी शिष्या ने दुष्कर्म व शोषण का आरोप लगाते हुए कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया था। वह मामला अभी विचाराधीन है।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment