यूएन लेटर में राहुल का नाम, कांग्रेस ने पाकिस्तान की निंदा की (लीड-2)

नई दिल्ली, 28 अगस्त (आईएएनएस)। पाकिस्तान द्वारा संयुक्त राष्ट्र को लिखे अपने पत्र में खास तौर से राहुल गांधी का हवाला देते हुए कहा है कि कश्मीर में लोग मर रहे हैं। इसके बाद से कांग्रेस ने अपना रुख बदल लिया है और सरकार पर हमला करने के बजाय पाकिस्तान पर जमकर हमला कर रही है और पाकिस्तान को घाटी में हिंसा भड़काने वाला करार दिया है। कांग्रेस ने जोर देते हुए कहा कि कश्मीर भारत का आंतरिक मामला है।

अपने ससंदीय क्षेत्र वायनाड में मौजूद कांग्रेस सांसद ने ट्वीट किया, मैं कई मुद्दों पर इस सरकार से असहमत हूं। लेकिन, मैं यह पूरी तरह से स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि कश्मीर भारत का आंतरिक मुद्दा है और इसमें पाकिस्तान या किसी भी अन्य देश के हस्तक्षेप के लिए कोई जगह नहीं है।

उन्होंने आगे कहा, जम्मू-कश्मीर में हिंसा है। वहां इसलिए हिंसा है, क्योंकि इसे पाकिस्तान ने भड़काया है, जिसे दुनिया भर में आतंकवाद का प्रमुख समर्थक माना जाता है।

पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र महासभा को लिखे अपने पत्र में कहा है कि राहुल गांधी ने उल्लेख किया है कि जम्मू-कश्मीर में लोग मर रहे हैं। घटनाओं को ध्यान में रखते हुए वहां बहुत गलत हो रहा है।

यह पत्र सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है और पाकिस्तान ने राहुल गांधी के नाम का इस्तेमाल एक बार से ज्यादा किया है। इस पत्र में लॉकडाउन के बाद जम्मू-कश्मीर में मानवाधिकारों के उल्लंघन का दावा किया गया है।

पाकिस्तान द्वारा कश्मीर पर अपने पक्ष के समर्थन में खुले तौर पर राहुल गांधी के नाम का इस्तेमाल किया गया है।

राहुल गांधी ने शनिवार को विपक्ष के एक प्रतिनिधिमंडल के श्रीनगर दौरे का नेतृत्व किया था, लेकिन उन्हें लौटना पड़ा। उनकी जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल से भी जुबानी जंग हुई। राज्यपाल ने राहुल गांधी को घाटी के दौरे की इजाजत देने से इनकार कर दिया।

राहुल गांधी ने कहा कि अगर सरकार का दावा है कि सामान्य स्थिति बहाल हो रही है तो उन्हें व विपक्ष के दूसरे नेताओं को इसे खुद से देखने की इजाजत दी जानी चाहिए।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने कहा कि कांग्रेस ने एकजुट होकर जोर देकर कहा है कि कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है। पार्टी ने केवल उस तरीके का विरोध किया, जिस तरह से अनुच्छेद 370 को निरस्त किया गया था।

उन्होंने पाकिस्तान को कांग्रेस के रुख से कोई सहारा नहीं तलाशने के लिए कहा।

थरूर ने ट्वीट किया, स्पॉट ऑन, चीफ! यह वही है, जिसकी कांग्रेस ने एकसुर से वकालत की है, जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है। जिस तरह से अनुच्छेद 370 को निरस्त किया गया था, उसका हमने विरोध किया, क्योंकि जिस तरह से यह किया गया, यह हमारे संविधान और लोकतांत्रिक मूल्यों पर हमला था। पाकिस्तान के लिए हमारे रुख से किसी भी प्रकार की तसल्ली मिलने का कोई कारण नहीं।

राहुल गांधी से पहले, पार्टी के कई वरिष्ठ नेता जैसे ज्योतिरादित्य सिंधिया, जनार्दन द्विवेदी, हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा, उनके बेटे दीपेंद्र हुड्डा, उत्तर प्रदेश की विधायक अदिति सिंह, मिलिंद देवड़ा, अनिल शास्त्री और अन्य ने अनुच्छेद 370 को रद्द करने के सरकार के फैसले का समर्थन किया था।

कांग्रेस ने बुधवार को पाकिस्तान को लताड़ लगाते हुए कहा कि जम्मू-कश्मीर और लद्दाख भारत का अभिन्न अंग थे और रहेंगे।

पार्टी नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने एक बयान में कहा कि कांग्रेस ने पाकिस्तान सरकार की उन रपटों पर गौर किया है, जिनमें कथित रूप से संयुक्त राष्ट्र में जम्मू-कश्मीर की याचिका शामिल है, जिसमें पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी का नाम शामिल है।

उन्होंने कहा कि राहुल गांधी को पाकिस्तान द्वारा फैलाए जा रहे झूठ और जानबूझकर गलत सूचना को सही ठहराने के लिए घसीटा गया है। दुनिया में किसी को भी संदेह नहीं होना चाहिए कि जम्मू-कश्मीर और लद्दाख भारत के अभिन्न अंग हैं और हमेशा रहेंगे।

उन्होंने कहा कि इसके बजाय, पाकिस्तान को पीओके-गिलगित-हुंजा-बाल्टिस्तान में मानवाधिकारों के अनुचित और अमानवीय उल्लंघन के बारे में दुनिया को जवाब देना चाहिए।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment