आरबीआई की आपात निधि में 15 फीसदी की गिरावट : सालाना रिपोर्ट

मुंबई, 29 अगस्त (आईएएनएस)। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की आपात निधि में 30 जून 2019 तक पिछले साल के इसी तारीख की तुलना में 1.96 लाख करोड़ रुपये की कमी दर्ज की गई है, जोकि साल-दर-साल आधार पर 15 फीसदी की कमी है। केंद्रीय बैंक की सालाना रिपोर्ट से यह जानकारी मिली है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि बैंक के नकदी और स्वर्ण पुर्नमूल्यांकन खाते में गिरावट दर्ज की गई, जो 6.96 लाख करोड़ रुपये से घटकर 6.64 लाख करोड़ रुपये हो गया।

आपात निधि में कमी 52,000 करोड़ रुपये के अधिशेष के सरकार को देने से आई है।

हालांकि विशेषज्ञों के मुताबिक, सरकार को आईबीआई द्वारा 1.96 लाख करोड़ का अधिशेष देने से वास्तविक लाभ 58,000 करोड़ रुपये का ही होगा।

सरकार ने पहले ही वित्त वर्ष 2019-20 के लिए 90,000 करोड़ रुपये के लाभांश का बजट रखा है, जिसमें से आरबीआई ने 28,000 करोड़ रुपये के लाभांश का हस्तांतरण कर दिया गया है।

इस तरह से अब तक विशेषज्ञों के मुताबिक, 90,000 करोड़ रुपये और 28,000 करोड़ रुपये को जोड़कर 1.18 लाख करोड़ रुपये लाभांश का हस्तांतरण तय था। इसलिए 1.76 लाख करोड़ रुपये में से सरकार को केवल 58,000 करोड़ रुपये अतिरिक्त मिलेंगे।

आरबीआई की रिपोर्ट में यह भी कहा गया कि घरेलू स्रोतों से आय पिछले वित्त वर्ष में 50,880 करोड़ रुपये से 132.07 फीसदी बढ़कर 1,18,078 करोड़ रुपये हो गई।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment