बिहार में 6 महीने में खुलेंगे 150 प्रदूषण जांच केंद्र

पटना, 9 सितंबर (आईएएनएस)। बिहार सरकार ने प्रदूषण जांच केंद्रों पर वाहनों की लंबी कतार को कम करने के लिए राज्य के सभी प्रखंडों में प्रदूषण जांच केंद्र खोलने का निर्णय लिया है। राज्यभर में अगले छह महीने के अंदर 150 से ज्यादा प्रदूषण जांच केंद्र खोले जएंगे।

बिहार राज्य परिवहन विभाग निगम के सचिव संजय कुमार ने सोमवार को कहा कि अगले छह महीने के भीतर 150 से ज्यादा प्रदूषण केंद्र खोले जांएगे। हर प्रखंड में कम से कम एक प्रदूषण केंद्र खोला जाएगा, जिससे लोगों की परेशानियां कम होंगी।

उल्लेखनीय है कि फिलहाल राज्य में 269 प्रदूषण केंद्र हैं, जिसमें अकेले पटना में 55 केंद्र हैं।

नए मोटर व्हीकल एक्ट 2019 के बाद यातायात पुलिस द्वारा वाहनों की जांच में तेजी आने के बाद वाहनों के प्रदूषण जांच प्रमाण पत्र बनाने के लिए वाहनों की लंबी कतार लग रही हैं।

परिवहन विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि राज्य के सभी पेट्रोल पंप और ऑटोमोबाइल्स कंपनियों के सर्विस सेंटर में भी प्रदूषण केंद्र खोलने के निर्देश दिए गए हैं। परिवहन विभाग ने पेट्रोल पंप के मालिकों को चेतावनी भी दी है कि जिस पेट्रोल पंप या सर्विस सेंटर पर प्रदूषण जांच केंद्र नहीं रहेगा, उन्हें नोटिस जारी किए जाएंगे। इसके अलावा आम लोग भी प्रदूषण जांच केंद्र खोल सकते हैं।

वाहनों से होने वाले प्रदूषण की रोकथाम, बिना प्रदूषण जांच सर्टिफिकेट वाले वाहनों का डेटा संग्रह करने और फर्जी प्रदूषण सर्टिफिकेट्स पर रोक लगाने के लिए परिवहन विभाग राज्यभर में प्रदूषण सर्टिफिकेट जारी करने की व्यवस्था को अनलाइन कर रहा है।

गौरतलब है कि पटना सहित राज्य के करीब सभी क्षेत्रों में वाहन जांच की मुहिम चलाई जा रही है।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment