तबरेज अंसारी मामले में विहिप नेता ने धर्मनिरपेक्षता पर उठाए सवाल

नई दिल्ली, 11 सितम्बर (आईएएनएस)। झारखंड में तबरेज अंसारी की मॉब लिंचिंग में हुई मौत के मामले में पुलिस द्वारा आरोपियों से हत्या का केस हटाने के बाद विश्व हिंदू परिषद (विहिप) ने कथित धर्मनिरपेक्ष लोगों पर निशाना साधा।

विहिप के संयुक्त महासचिव सुरेंद्र जैन ने कहा, गहन जांच के बाद जारी तबरेज की पोस्टमार्टम रिपोर्ट ने न केवल उनकी मौत के कारणों को स्पष्ट किया है, बल्कि धर्मनिरपेक्ष गिरोह की एक बड़ी साजिश का भी पदार्फाश किया है।

उन्होंने इसके लिए खान मार्केट माफिया को जिम्मेदार ठहराया, जो बार-बार हिंदू समाज के साथ ही भारत देश व मानवता का अपमान करता रहा है। जैन ने उन्हें जेहादी आतंकवादियों का पोषण करने वाला बताया।

उन्होंने कहा, तबरेज की मृत्यु के बाद शुरू किए गए अभियान के कारण 20 से अधिक मंदिरों को ध्वस्त कर दिया गया। जिहादियों ने 32 स्थानों पर उग्र प्रदर्शन किए और हिंदुओं पर हमले किए। सूरत और रांची में प्रदर्शनों की भयावहता को कभी नहीं भुलाया जा सकता। लेकिन अगर एक दंगे में कोई मुस्लिम आहत होता है, तो फिर खान मार्केट गैंग को हिंदू समाज, हिंदू संगठनों और केंद्र सरकार को बदनाम करने का एक और मौका मिल जाता है।

गौरतलब है कि 17 जून को तबरेज अंसारी (24) के घर से कुछ कि.मी. दूर झारखंड के धातकीडीह गांव के कुछ लोगों ने चोरी का आरोप लगाते हुए उसे पकड़ा और उसकी पिटाई शुरू कर दी। इस मामले में अब तक 11 लोगों पर मामला दर्ज किया जा चुका है।

मंगलवार को पुलिस ने मामले में आरोपियों के खिलाफ हत्या के आरोप हटा दिए थे।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment