शेयर बाजार में इस सप्ताह दिखेगा सरकारी घोषणाओं, विदेशी संकेतों का असर

मुंबई, 15 सितम्बर (आईएएनएस)। भारतीय शेयर बाजार की चाल इस सप्ताह कतिपय घरेलू कारकों और विदेशी बाजार से मिलने वाले संकेतों से तय होगी जिनमें देश की अर्थव्यवस्था को रफ्तार देने के लिए सरकार द्वारा की गई नई घोषणों और बीते सप्ताह जारी प्रमुख आर्थिक आंकड़ों के साथ-साथ मानसून की प्रगति की अहम भूमिका रहेगी। इसके अलावा, विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) व घरेलू संस्थागत निवेशकों के निवेश रुझान से बाजार को दिशा मिलेगी।

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने निर्यात को प्रोत्साहन देने और आवासीय क्षेत्र को बढ़ावा देने के साथ-साथ अर्थव्यवस्था की सेहत सुधारने के लिए शनिवार को फिर कतिपय उपायों की घोषणा की जिससे घरेलू शेयर बाजार में सकारात्मक रुझान देखने को मिल सकता है। वहीं, बीते सप्ताह जारी औद्योगिकी उत्पादन के आंकड़े सकारात्मक रहने से भी निवेशकों का मनोबल ऊंचा हो सकता है।

अगले सप्ताह के आरंभ में सोमवार को थोक मूल्य आधारित महंगाई के आंकड़े जारी होंगे। साथ ही, बीते महीने अगस्त में देश का व्यापार संतुलन कैसा रहा, यह भी सोमवार को ही जारी होने वाले आंकड़ों से जानने को मिलेगा।

मानसून की प्रगति सकारात्मक रही है और बीते सप्ताह 11 सितंबर तक देश में सीजन के दौरान औसत से तीन फीसदी अधिक बारिश हुई है जोकि बाजार के लिए एक सकारात्मक संकेत है। वहीं, डॉलर के मुकाबले देसी करेंसी रुपये की चाल से भी बाजार को दिशा मिल सकती है।

हालांकि घरेलू शेयर बाजार की चाल तय करने में विदेशी बाजार से मिलने वाले संकेतों की अहम भूमिका होगी जिसमें अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के भाव पर विशेष निगाह होगी। साथ ही, अमेरिका और चीन के बीच व्यापारिक तनाव दूर करने की दिशा में होने वाली प्रगति का भी बाजार पर असर दिखेगा।

सप्ताह के दौरान अमेरिकी केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व बुधवार को ब्याज दर पर अपने फैसले की घोषणा करेगी, जिसका इंतजार दुनियाभर के बाजार को रहेगा। इसके अगले दिन गुरुवार को बैंक ऑफ जापान भी ब्याज दर पर अपने फैसले का एलान करेगा।

इसके अलावा, चीन में औद्योगिक उत्पादन के अगस्त महीने के आंकड़े सोमवार को ही जारी होंगे। वहीं, जापान में अगस्त महीने में रही महंगाई के आंकड़े सप्ताह के आखिर में शुक्रवार को जारी होंगे।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment