एसआईटी ने चिन्मयानंद के खिलाफ सबूत लीक किए : पीड़िता के पिता

शाहजहांपुर (उत्तर प्रदेश), 16 सितम्बर (आईएएनएस)। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ लगे आरोपों की जांच के लिए गठित विशेष जांच टीम (एसआईटी) की भूमिका पर अब सवाल खड़े होने लगे हैं।

चिन्मयानंद पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली कानून की छात्रा के पिता ने आरोप लगाया है कि एसआईटी ने उनकी बेटी द्वारा दिए गए वीडियो रिकॉर्डिग में से फुटेज लीक कर दिया है।

एसआईटी कर्मियों ने कानून की छात्रा को पूर्व केंद्रीय मंत्री के खिलाफ जो भी सबूत हैं वह जमा करने के लिए कहा था, जिसके बाद उसने अपने आरोपों के समर्थन में शनिवार को एसआईटी को एक पेनड्राइव दिया था, जिसमें 43 वीडियो थे।

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, यह साजिश है और मैं सुप्रीम कोर्ट से इस मामले की जांच का आग्रह करूंगा।

उन्होंने कहा, स्क्रीनशॉट्स और वीडियो सोशल मीडिया पर कैसे आए? स्क्रीनशॉट्स तो कई सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर पोस्ट किए जा चुके हैं। ये मेरी बेटी ने एसआईटी को दिए थे। यह एक साजिश है।

रियेलिटी शो बिग बॉस में अपनी विवादित उपस्थिति के कारण चर्चा में आए एक स्वघोषित संत स्वामी ओमजी ने चिन्मयानंद का समर्थन किया है।

उन्होंने चेतावनी दी, अगर चिन्मयानंद के खिलाफ झूठा मामला दर्ज किया गया, तो देशभर में करोड़ों हिंदू सड़कों पर उतर आएंगे और विद्रोह शुरू कर देंगे।

उन्होंने कहा, उत्तर प्रदेश सरकार चिन्मयानंद के खिलाफ दुष्कर्म का कोई मामला दर्ज नहीं कर सकती, और अगर उसने ऐसा किया तो उसे मामला वापस लेना होगा।

ओमजी ने दावा किया कि छात्रा ने दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, तथा नेताओं- राहुल गांधी और प्रियंका वाड्रा गांधी से मुलाकात की थी।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment