पाकिस्तान : हिंदू छात्रा की संदिग्ध मौत के मामले में 2 सहपाठी गिरफ्तार

लरकाना, 19 सितम्बर (आईएएनएस)। पाकिस्तान के सिंध प्रांत के लरकाना में मेडिकल छात्रा नम्रता कुमारी की संदिग्ध हालात में मौत के मामले में उनके दो सहपाठियों को गिरफ्तार किया गया है।

पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है। इनमें बताया गया है कि नम्रता मामले की जांच में प्रगति हुई है। दो छात्र गिरफ्तार किए गए हैं तथा कुछ और गिरफ्तारियों के भी आसार हैं।

लरकाना के शहीद मोहतरमा बेनजीर भुट्टो मेडिकल कॉलेज व विश्वविद्यालय के बीबी आसिफा डेंटल कॉलेज की अंतिम वर्ष की छात्रा नम्रता की मौत के मामले में पुलिस ने उनके दो सहपाठियों महरान अबडू और आलीशान को गिरफ्तार किया है।

रिपोर्ट में बताया गया है कि पुलिस अधिकारी मसूद बंगश ने बताया कि महरान और आलीशान की नम्रता से घनिष्ठ मित्रता थी और तीनों एक ही कक्षा में थे। इन्हें नम्रता के मोबाइल फोन के कॉल रिकार्ड की जांच के बाद गिरफ्तार किया गया है। इन दोनों से अलग-अलग पूछताछ की गई और इनके बयानों में भिन्नता पाए जाने के बाद इन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। उन्होंने बताया कि नम्रता के लैपटॉप की भी जांच की गई है।

इस बीच, पाकिस्तान के राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ने नम्रता के भाई राहुल कुमार चंदानी को फोन कर अपनी संवेदना जताई। उन्होंने परिवार को आश्वस्त किया कि उनकी इच्छा के अनुरूप ही पुलिस जांच की जाएगी।

अपने हॉस्टल के कमरे में 16 सितम्बर को मृत मिलीं नम्रता की मौत को विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा प्रथमदृष्टया खुदकुशी का मामला बताया गया था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी इसी तरफ इशारा किया गया लेकिन नम्रता के भाई डॉक्टर विशाल ने कहा कि एक डॉक्टर की हैसियत से वह यह कह सकते हैं कि यह खुदकुशी का मामला नहीं है, उनकी बहन की हत्या की गई है। उन्होंने मामले की उच्चस्तरीय जांच की मांग की थी।

उच्चस्तरीय जांच की मांग समाज के कई अन्य तबकों की तरफ से भी की गई। बुधवार को लरकाना में नम्रता के कॉलेज के विद्यार्थियों के साथ-साथ वकीलों व अन्य सामाजिक संगठनों ने प्रदर्शन कर नम्रता के लिए इनसाफ की मांग की। प्रदर्शनकारियों ने विश्वविद्यालय की कुलपति डॉ. अनिला अताउररहमान को पद से हटाने की भी मांग की। ऐसे ही प्रदर्शन सिंध के और शहरों में भी हुए। इसके बाद सिंध की सरकार ने मामले की न्यायिक जांच का आदेश दिया।

दूसरी ओर, विश्वविद्यालय की कुलपति डॉ. अनिला अताउररहमान घोटकी में एक संवाददाता रमेश कुमार को चांटा मारने के बाद सुर्खियों में आ गईं। वह नम्रता के घर संवेदना प्रकट करने गई थीं। वहां संवाददाताओं ने उनसे तीखे सवाल पूछे। रमेश नाम के संवाददाता उनकी बात को फोन में रिकार्ड कर रहे थे। अनिला ने रमेश का मोबाइल छीनने की कोशिश की और नाकाम रहने पर रमेश को चांटा मार दिया। इस पर सभी संवाददाता उनके खिलाफ धरने पर बैठ गए जिसके बाद वह वहां से चली गईं।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment