मेघालय में कोल्ड स्टोरेज नहीं, 50 फीसदी फल, सब्जी खराब हो जाते हैं : मुख्यमंत्री

नई दिल्ली, 20 सितंबर (आईएएनएस)। मेघालय के मुख्यमंत्री कोनराड के संगमा का कहना है कि मेघालय में कोल्ड स्टोरेज के अभाव में 50 फीसदी ताजे फल व सब्जी खराब हो जाते हैं, जिससे किसानों को काफी नुकसान होता है।

उन्होंने कहा कि केला, संतरा, अनारस, लीची और कीवी मेघालय के प्रमुख हार्टिकल्चर (बागबानी) उत्पाद हैं, जो करीब 50 फीसदी खराब हो जाते हैं, लिहाजा, हम इसके प्रसंस्करण को अभी प्रमुखता दे रहे हैं।

नई दिल्ली के प्रगति मैदान में गुरुवार को शुरू हुई एक मेगा खाद्य प्रदर्शनी, सियाल इंडिया-2019 का दूसरा संस्करण के उद्घाटन के मौके पर आईएएनएस से बातचीत में संगमा ने कहा, हमारा मकसद इस समय यह है कि हम कैसे इसकी सप्लाई बढ़ाएं और इसमें वैल्यू एड करें, जिससे किसानों को उसका लाभ मिल पाए।

संगमा ने बताया कि मेघालय से केले पूरी दुनिया में जाती है। उन्होंने कहा, हमारे पास अभी दो-तीन ही कोल्ड स्टोरेज हैं। कोल्ड स्टोरेज के अभाव किसानों को बहुत कम दाम पर केले बेचने पड़ते हैं।

कोल्ड स्टोरेज स्थापित करने की योजना पर पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा, हम उत्पादन बढ़ाने, वैल्यू एडीशन करने, लॉजिस्टिक्स बढ़ाने के साथ-साथ परिवहन व्यवस्था को दुरुस्त करने के सभी चारों आयामों पर काम कर रहे हैं, लेकिन हमारा जोर अभी इस खाद्य प्रसंस्करण के क्षेत्र स्थानीय उद्यमिता को बढ़ावा देना है।

सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय और फोरम ऑफ इंडियन फूड इम्पोर्टर्स, इंडियन फेडरेशन ऑफ कलिनरी एसोसिएशन व अन्य संगठनों के सहयोग से आयोजित तीन दिवसीय इस प्रदर्शनी का उद्घाटन उपभोक्ता मामलों, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्री राम विलास पासवान और कोनराड के संगमा ने किया।

इस प्रदर्शनी में दुनिया के देसी कंपनियों समेत 30 से ज्यादा देशों के खाद्य प्रसंस्करण से संबंधित 300 से अधिक कंपनियों व उद्यमियों ने अपने उत्पादों की प्रदर्शनी लगाई है। मेघालय इस आयोजन का अहम भागीदार है, जहां के उद्यमियों ने मेघालय ऑन द मूव थीम के अपने खाद्य उत्पादों से दुनियाभर के दर्शकों को परिचित कराने के लिए इसकी प्रदर्शनी लगाई है।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment