पाकिस्तान का व्यापार घाटा दो महीने में 36 फीसदी कम हुआ

इस्लामाबाद, 21 सितम्बर (आईएएनएस)। पाकिस्तान में चालू वित्त वर्ष (जुलाई-जून) के शुरुआती दो महीने के दौरान आयात 20 फीसदी घटने और निर्यात में मामूली 2.8 फीसदी की वृद्धि होने के कारण देश का व्यापार घाटा 36 फीसदी घटकर 3.9 अरब डॉलर रह गया। इस दौरान पाकिस्तान की मुद्रा में भारी गिरावट आई जिसका देश की अर्थव्यवस्था को भारी खामियाजा भुगतना पड़ा है।

द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की शनिवार की एक रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान ब्यूरो ऑफ स्टैटिस्टिक्स (पीबीएस) द्वारा 10 दिनों के विलंब के बाद शुक्रवार को जारी आंकड़े बताते हैं कि अगस्त महीने में पाकिस्तान का निर्यात पिछले महीने के मुकाबले तो घटा ही है, पिछले साल के मुकाबले भी इसमें कमी आई है जबकि पाकिस्तानी रुपया डॉलर के मुकाबले एक तिहाई कमजोर हुआ है।

हालांकि जुलाई और अगस्त के दौरान निर्यात 10.2 करोड़ डॉलर यानी 2.8 फीसदी की वृद्धि के साथ 3.75 अरब डॉलर हो गया, जिसके बाद मौद्रिक नीति की समीक्षा की गंभीर जरूरत समझी जा रही है।

पीबीएस की रिपोर्ट के अनुसार, कुल व्यापार घाटा पिछले साल इस अवधि के दौरान 6.1 अरब डॉलर था जो इस वित्त वर्ष के शुरुआती दो महीने में सिकुड़कर 3.9 अरब डॉलर रह गया। सही मायने में व्यापार घाटे में 2.2 अरब डॉलर की कमी आई जिसका मुख्य कारण आयात में कमी है।

आलोच्य अवधि के दौरान पाकिस्तान का आयात 21.4 फीसदी घटकर 7.7 अरब डॉलर रह गया, लेकिन व्यापार घाटे में कमी की मुख्य वजह पेट्रोलियम, परिवहन, कपड़ा व खाद्य समूहों के आयात में कमी रही है।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment