विश्व कुश्ती चैम्पियनशिप : दीपक के पास स्वर्णिम अवसर, राहुल की नजरें कांसे पर (राउंडअप)

दीपक रविवार को स्वर्ण पदक के लिए लड़ेंगे जबकि राहुल कांस्य पदक के लिए खेलेंगे।

दीपक ने सेमीफाइनल में स्विट्जरलैंड के स्टेफन सेइचमुथ को 8-2 से मात दे फाइनल में जगह बनाई।

दीपक के पास भारत के लिए इतिहास रचने का मौका है। फाइनल में उनका सामना ईरान के हसन याजदानिचाराटी से होगा। अगर दीपक फाइनल जीत जाते हैं तो वह विश्व चैम्पियनशिप में भारत के लिए स्वर्ण पदक जीतने वाले दूसरे खिलाड़ी बन जाएंगे।

दो बार के ओलम्पिक पदक विजेता सुशील कुमार ने 2010 में मास्को में आयोजित विश्व चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक जीता था। दीपक पहले ही ओलम्पिक कोटा हासिल कर चुके हैं।

पहला राउंड काफी कड़ा रहा। दोनों खिलाड़ियों ने बेहतरीन खेल दिखाया, लेकिन अपने दूसरे राउंड में हमेशा से अच्छा करने वाले दीपक ने यहां टेकडाउन से लगातार अंक ले फाइनल में प्रवेश किया। इसी के साथ दीपक विश्व चैम्पियनशिप के फाइनल में पहुंचने वाले भारत के सबसे युवा खिलाड़ी भी बन गए हैं।

दीपक ने हाल ही में जूनियर विश्व चैम्पियनशिप का खिताब अपने नाम किया था।

दीपक ने प्री-क्वार्टर फाइनल में कजाकिस्तान के अदिलेत डावलुम्बायेव को 8-6 से हराया और फिर अंतिम-8 में तजाकिस्तान के बाखोडुर कोडिरोव को 6-0 से मात दे सेमीफाइनल में प्रवेश के साथ ही ओलम्पिक कोटा हासिल किया।

राहुल को 61 किलोग्राम भारवर्ग में जॉर्जिया के बेका लोमाटड्जे ने 10-6 से मात दी।

राहुल जॉर्जिया के पहलवान के सामने कमजोर साबित हुए। पहले राउंड में बेका ने उन्हें गिराया और फिर पलट कर चार अंक ले राहुल को दबाव में ला दिया। इसके बाद उन्होंने तीन अंक और लिए जबकि राहुल किसी तरह एक अंक लेने में सफल रहे। पहले राउंड के बाद बेका 7-1 से आगे थे।

दूसरे राउंड में आने के कुछ देर बाद ही राहुल ने एक अंक और लिया और फिर चार अंक ले स्कोर 6-8 कर जीत की ओर बढ़ने की कोशिश की लेकिन बेका ने काउंटर पर दो अंक और लेकर राहुल को हार के लिए मजबूर कर दिया। राहुल ने क्वार्टर फाइनल में कजाकिस्तान के रासूल कालिएव को 10-7 से हराया।

प्री क्वार्टर फाइनल में उन्होंने तुर्केमेनिस्तान के केरिम होजाकोव को 13-2 से हराया था।

वहीं भारत के एक और खिलाड़ी जितेन्द्र को 79 किलोग्राम भारवर्ग के क्वार्टर फाइनल में हार झेलनी पड़ी। स्लोवाकिया के तैमूरज सल्काजानोव ने जितेन्द्र को 4-0 से पराजित किया।

जितेन्द्र को उम्मीद थी कि स्लोवाकिया का खिलाड़ी फाइनल में पहुंच जाए ताकि उन्हें रेपचेज में खेलने का मौका मिले, लेकिन ऐसा नहीं हो सका। तैमूरज को सेमीफाइनल में हार मिली।

मौसम खत्री भी 97 किलोग्राम भारवर्ग में सफल नहीं हो सके। मौजूदा ओलम्पिक स्वर्ण पदक विजेता और विश्व चैम्पियन अमेरिका के काइल फेडरिक स्नाइडर ने तकनीकी दक्षता के आधार पर खतरी को 10-0 से करारी शिकस्त दी।

खत्री भी इस उम्मीद में थे कि स्नाइडर फाइनल खेलें ताकि भारतीय खिलाड़ी को रेपचेज खेलने का मौका मिले, लेकिन स्नाइडर भी सेमीफाइनल में हार गए।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment