एथलेटिक्स चैम्पियनशिप के पदकों को बनाने में कतर की महिलाओं का अहम योगदान

दोहा, 26 सितम्बर (आईएएनएस)। कतर विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप के रूप में पहली बार तीसरी सबसे बड़ी प्रतियोगिता का आयोजन करने जा रहा है।

शुक्रवार से शुरू होने जा रही इस चैंपियनशिप में 2000 से भी अधिक एथलीट 192 पदकों के लिए अपनी-अपनी चुनौती पेश करेंगे। आयोजनकर्ताओं ने इन 192 पदकों को खास डिजाइन के रूप में तैयार किया है।

चैंपियनशिप में स्वर्ण, रजत और कांस्य पदकों को कतर की राजधानी दोहा स्थित महिला ब्रांडिंग की टीम ने तैयार किया है। पदकों को बनाने में महिला ब्रांडिंग टीम का अहम योगदान है।

इन पदकों पर दोहा स्काईलाइन और ऐतिहासिक खलीफा इंटरनेशनल स्टेडियम का चित्रण किया गया है। 10 दिनों तक चलने वाले प्रतियोगिता के सभी मुकाबले खलीफा इंटरनेशनल स्टेडियम में आयोजित किए जाएंगे।

पदकों पर डिजाइनों के चित्रण के साथ-साथ दोहा स्काइलाइन भी है, जिसमें मैराथन और पैदल चाल स्पर्धाओं का बैकग्राउंड है। इसके अलावा पदक के अन्य हिस्सों का डिजाइन 13 विभिन्न एथलेटिक्स स्पर्धाओं में बुने गए हैं।

अंतर्राष्ट्रीय एथलेटिक्स महासंघ (आईएएफ) के अध्यक्ष सेबेस्टियन कोए ने कहा, ये पदक हमारी खेलों में सर्वश्रेष्ठता का प्रतीक है। यह सभी वर्षो के पसीना, प्रयास और दृढ़ता को दर्शाता है। इसलिए उनके लिए इन पदकों का डिजाइन, एक खास उपलब्धि होनी चाहिए। हमारी स्थानीय आयोजन समिति ने पदक बनाने के लिए कड़ी मेहनत की है और हमारे एथलीटों को इसे जीतने में काफी गर्व होगा।

स्थानीय आयोजन समिति की संपर्क निदेशक शेख आसमा अल थनी ने कहा, पदकों पर बना डिजाइन देश में कतर के विशेष अवसर को दर्शाता है क्योंकि इसको बनाने में कई लोगों ने अपना योगदान दिया है। स्वर्ण पदक एथलीटों को कतर की याद दिलाता रहेगा। पूरा कतर इस चैंपियनशिप को लेकर बेहद उत्साहित है।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment