कश्मीर नैरेटिव पर नियंत्रण के लिए पाकिस्तान ने भारतीय कंटेंट को सेंसर किया

नई दिल्ली, 29 सितम्बर (आईएएनएस)। पाकिस्तान के टीवी सेंसर निकॉय पेमरा ने किसी भी तरह के भारतीय कंटेंट के प्रसारण पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाने का आदेश दिया है। निकॉय ने सभी समाचार चैनलों को निर्देश दिया है कि वे किसी भी भारतीय पत्रकार, विश्लेषक, सेलेब्रिटी और राजनेता को अपने शो में आमंत्रित मत करें।

इस आशय का आदेश आठ अगस्त को जारी हुआ था जिसकी प्रति आईएएनएस के पास है। इसमें कहा गया है, सभी पेमरा प्रसारकों और डिस्ट्रीब्यूटर सर्विस लाइसेंसधारकों से एक बार फिर बताया जा रहा है कि किसी भी भारतीय कंटेट के प्रसारण पर पूरी तरह से रोक है चाहे वे किसी क्लिप की शक्ल में हों या प्रोमो, गाने, न्यूज रिपोर्ट हों या फिर विज्ञापन, राजनैतिक चर्चा व विश्लेषण या भारतीय कलाकारों के प्रमोशन के रूप में हों।

पेमरा के आदेश की सख्ती का अंदाज आदेश में कही गई इस बात से लगाया जा सकता है कि इस मामले में किसी तरह की कोताही न केवल पेमरा के आदेश के खिलाफ होगी बल्कि पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट के आदेश के खिलाफ भी होगी।

यह आदेश जम्मू एवं कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले भारतीय संविधान के अनुच्छेद 370 व 35-ए को रद्द करने के भारत सरकार के फैसले के तीन दिन बाद जारी हुआ था।

प्रतिबंध केवल मनोरंजन उद्योग के लिए नहीं है बल्कि इसके दायरे में पाकिस्तान के समाचार चैनल भी आते हैं। इसमें देश में आजाद प्रेस को यह कहकर धमकाया गया कि अपने टॉक शो में ऐसी समीक्षा के लिए किसी भी भारतीय सेलेब्रिटी, राजनैतिक हस्ती, पत्रकार व विश्लेषक को न बुलाएं जो पाकिस्तान की संप्रभुता व अखंडता के खिलाफ हो।

हालांकि मजेदार यह है कि पेमरा ने भारतीय मीडिया की उन रिपोर्ट, संतुलित रुख, राय, टिप्पणी और रिपोर्ट को प्रसारित करने की छूट दी है जो जम्मू-कश्मीर के लोगों के न्यायपूर्ण लक्ष्यों के पक्ष में हों।

पेमरा ने अपनी इस बात को नहीं छिपाया कि वह केवल प्रोपेगेंडा चाहता है। उसने सभी लाइसेंसधारकों से कहा कि वे कश्मीर मुद्दे पर पाकिस्तानी नैरेटिव पेश करें।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment