चीन में 1 करोड़ 60 लाख से ज्यादा पेशेवर अध्यापक

बीजिंग, 29 सितम्बर (आईएएनएस)। नए चीन की स्थापना के शुरू में 80 प्रतिशत आबादी अनपढ़ थी। 70 साल के विकास से चीन में अब 1 करोड़ 60 लाख से ज्यादा पेशेवर अध्यापक हैं और आम तौर पर नौ साल की अनिवार्य शिक्षा लोकप्रिय बनाई गई है।

वर्ष 2018 में पूरे देश के शिक्षा कार्य में लगाई गई पूंजी की रकम 46 खरब युवान थी, जो सार्वजनिक वित्त में सबसे बड़ा व्यय रही।

140 करोड़ आबादी वाले देश होने के नाते चीन को अनिवार्य शिक्षा लागू करने के लिए विशाल वित्तीय दबाव का सामना करना पड़ा। चीन ने संकल्प लेकर वर्ष 1986 में अनिवार्य शिक्षा कानून जारी किया और बीस से ज्यादा साल की निरंतर कोशिशों से अनिवार्य शिक्षा पूरी की गई। इसके साथ उच्च स्तरीय शिक्षा और व्यावहारिक शिक्षा व्यवस्था भी संपूर्ण हो गई।

70 साल में 27 करोड़ उच्च स्तरीय प्रतिभाएं तैयार की गयीं। सुधार और खुलेपन के प्रारंभिक दौर में चीन ने मुख्य तौर पर श्रमिक सघन व्यवसाय पर निर्भर रहकर तेज आर्थिक वृद्धि हासिल की। भविष्य में चीन को व्यवसाय पर निर्भर रहकर अर्थव्यवस्था की स्वस्थ वृद्धि बनाए रखना है। इस दौरान लंबे अरसे से शिक्षा को महत्व देने का लाभ दिखाया जाएगा।

(साभार---चाइना रेडियो इंटरनेशनल, पेइचिंग)

-- आईएएनएस

Related News

Leave a Comment