मोबाइल एप से 60 दिनों के भीतर होगा उपभोक्ताओं की शिकायतों का निवारण

नई दिल्ली, 1 अक्टूबर (आईएएनएस)। केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री राम विलास पासवान ने उपभोक्ताओं की शिकायतों का त्वरित निवारण करने के मकसद से मंगलवार को एक कंज्यूमर एप का शुभारंभ किया, जिसके जरिए 60 दिनों के भीतर शिकायतों का निपटारा किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि इस मोबाइल एप से उपभोक्ता आसानी से अपनी शिकायत कर सकेंगे और उन शिकायतों का निवारण भी आसान हो जाएगा, क्योंकि मंत्रालय द्वारा रोजाना इसकी निगरानी की जाएगी।

मंत्रालय ने उपभोक्ताओं की शिकायतों के निवारण की अधिकतम समयसीमा 60 दिन तय की है, जिसके बाद संबद्ध कंपनी के खिलाफ सख्त कदम उठाया जाएगा।

पासवान ने कहा कि इस कंज्यूमर एप को बनाने का मकसद उपभोक्ताओं की शिकायतों का जल्द और एक समयसीमा के भीतर निवारण करना है।

उन्होंने कहा, हम चाहते हैं कि कंज्यूमर शिकायतों के साथ-साथ अपना सुझाव भी दें। उपभोक्ता इस एप के जरिए शिकायत के साथ-साथ अपने सुझाव भी हमें दे सकते हैं।

पासवान ने कहा कि उपभोक्ताओं के पास अपनी शिकायत करने के लिए यह एक अतिरिक्त डिजिटल मंच होगा।

उपभोक्ता मामले मंत्रालय में सचिव अविनाश श्रीवास्तव ने कंज्यूमर एप की जानकारी देते हुए कहा कि इसमें कंज्यूमर ड्यूरेबल, इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों के अलावा ई-कॉमर्स, बैंकिंग और बीमा क्षेत्र समेत कुल सेक्टर को शामिल किया गया। उन्होंने बताया कि मोबाइल एप के जरिए उपभोक्ताओं को इन सेक्टरों की जानकारी मिलेगी।

उन्होंने बताया कि उपभोक्ता अपने एंड्रायड फोन और आईओएस प्लेटफार्म पर इस एप को डाउनलोड कर सकते हैं और इसका उपयोग हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में कर सकते हैं।

उन्होंने कहा कि उपभोक्ताओं की कंपनी द्वारा शिकायतों का निवारण किए जाने की पुष्टि के लिए उपभोक्ताओं को सात दिन का समय दिया जाएगा। अगर इस बीच में उपभोक्ता की ओर से किसी प्रकार का जवाब नहीं आने पर उस मामले को बंद कर दिया जाएगा।

उनसे जब पूछा गया कि 60 दिन के बाद भी शिकायत का निवारण नहीं होने की सूरत में मंत्रालय की ओर से क्या कार्रवाई की जाएगी तो उन्होंने कहा कि इसके बाद संबद्ध कंपनी व सेवा प्रदाता पर दबाव बनाया जाएगा।

उपभोक्ताओं की शिकायत के लिए मंत्रालय ने नेशनल कंज्यूमर हेल्पलाइन (एनसीएच) भी बनाई है, जिसके माध्यम से उपभोक्ता अपनी विभिन्न प्रकार की शिकायत करते हैं और उन शिकायतों का निपटारा किया जाता है। विभिन्न उत्पादों और सेवाओं से संबंधित समस्याओं का समाधान तलाशने के लिए एनसीएच के माध्यम से उपभोक्ताओं का मागदर्शन किया जाता है और उन्हें कंपनी और विनियामक प्राधिकरणों से जुड़ी सूचना प्रदान की जाती है।

इस हेल्पाइन से उपभोक्ताओं को चूककर्ता सेवा प्रदाता के खिलाफ शिकायत दर्ज करने में मदद मिलती है साथ ही उपभोक्ताओं को उनके अधिकार और जिम्मेदारी से भी अवगत कराया जाता है।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment