नए चीन की स्थापना की 70वीं वर्षगांठ पर भव्य समारोह आयोजित

बीजिंग, 1 अक्टूबर (आईएएनएस)। चीन के विकास ने नए युग में प्रवेश कर लिया है। विश्व पर चीन का प्रभाव पहले कभी इस तरह बड़ा नहीं रहा। चीन के प्रति विश्व की नजर कभी इस तरह विस्तृत नहीं रही। एक अक्तूबर की सुबह चीन लोक गणराज्य की स्थापना की 70वीं वर्षगांठ पर पेइचिंग के थ्येनआनमन चौक पर सैन्य परेड और सामूहिक रैली भव्य रूप से आयोजित हुई।

इस मौके पर चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने अहम भाषण दिया और सैन्य परेड में शामिल सभी सैनिकों की सलामी स्वीकार की। उन्होंने जोर दिया कि कोई भी शक्ति चीन के स्थान को हिला नहीं सकती, और न ही कोई भी शक्ति चीनी जनता और चीनी राष्ट्र को आगे बढ़ने से रोक सकती।

सुबह 10 बजे, चीन लोक गणराज्य की स्थापना की 70वीं जयंती मनाने का समारोह शुरू हुआ। 70 तोपों की सलामी दी गयी। चीनी राष्ट्रीय झंडे को थ्येनआनमन चौक पर फहराया गया।

पिछले 70 सालों में चीनी कम्युनिस्ट पार्टी ने विभिन्न जातियों की जनता का नेतृत्व कर चीनी करिश्मा रचा। चीन का आर्थिक व सामाजिक विकास उल्लेखनीय है। चीन एक गरीब देश से विश्व की दूसरी बड़ी आर्थिक इकाई, सबसे बड़ा व्यापार देश, सबसे ज्यादा विदेशी मुद्रा रखने वाला देश और विदेशों में निवेश करने वाला दूसरा बड़ा देश बन चुका है। चीन में औसत व्यक्ति की आयु अवधि 1949 में 35 वर्ष से बढ़कर 2018 में 77 वर्ष तक बढ़ गयी। चीन में विश्व में सबसे बड़ी सामाजिक गारंटी प्रणाली की स्थापना भी की गई।

शी चिनफिंग ने बताया कि चीन लोक गणराज्य की स्थापना ने हाल में चीन में गरीबों व कमजोरों के दुर्भाग्य को बदला है। चीनी राष्ट्र महान पुनरुत्थान के रास्ते पर चल रहा है। पिछले 70 सालों में चीनी जनता के कठोर संघर्ष से महान उपलब्धियां हासिल हुई हैं।

पिछले 70 सालों में चीन की विभिन्न जातियों के लोगों ने कठोर संघर्ष कर महान उपलब्धियों को हासिल किया। आज समाजवादी चीन विश्व के पूर्वी भाग पर खड़ा है। कोई भी शक्ति चीन के स्थान को हिला नहीं सकती, कोई भी शक्ति चीनी जनता और चीनी राष्ट्र को आगे बढ़ने से रोक नहीं सकती।

शी चिनफिंग ने बल देते हुए कहा कि चीन आगे बढ़ रहा है, इसी दौरान चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के नेतृत्व पर कायम रहना चाहिए। जनता के प्रमुख स्थान पर डटा रहना चाहिए, चीनी विशेषता वाले समाजवादी रास्ते पर कायम रहना चाहिए। चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की बुनियादी विचारधारा, रास्ता और सिद्धांत का व्यापक तौर पर कार्यान्वयन किया जाना चाहिए। सुन्दर जीवन के प्रति जनता की अभिलाषा को लगातार संपूर्ण किया जाना चाहिए और नए ऐतिहासिक महान कार्य की रचना की जानी चाहिए।

उन्होंने कहा, चीन के विकसित होने की प्रक्रिया में शांतिपूर्ण पुनरेकीकरण और एक देश दो व्यवस्थाएं के सिद्धांत पर अटल रहते हुए हांगकांग व मकाओ की दीर्घकालीन समृद्धि व स्थिरता को बरकरार रखना चाहिए, थाईवान जलडमरुमध्य के दोनों तटों के संबंधों के शांतिपूर्ण विकास को आगे बढ़ाना चाहिए। हमें एकजुट होकर मातृभूमि के पुनरेकीकरण के लिए संघर्ष करें। चीन का अतीत मानव जाति के इतिहास में लिखा जा चुका है। चीन का नया अध्याय करोड़ों जनता द्वारा लिखा जा रहा है। चीन का भविष्य अवश्य ही और उज्‍जवल होगा।

चीन लोक गणराज्य की स्थापना की 70वीं वर्षगांठ में शी चिनफिंग ने पार्टी, सेना और जनता से और घनिष्ट रूप से एकजुट होकर चीन लोक गणराज्य को मजबूत बनाने, विकसित करने, 200 वर्षों के संघर्ष लक्ष्य को पूरा करने और चीनी राष्ट्र के महान पुनरुत्थान के चीनी स्वप्न को साकार करने के लिए संघर्ष करने का आह्वान किया। शी चिनफिंग के भाषण के बाद एक भव्य सैन्य परेड का आयोजन किया गया।

यह चीनी सेना के सुधार के बाद पहला प्रदर्शन है। कुल 15 हजार लोग सैन्य परेड में शामिल हुए। यह इधर के सालों में सबसे बड़े पैमाने वाला सैन्य परेड है। इस सैन्य परेड में कुल 15 हजार सैनिक, 160 से अधिक विमान शामिल हुए। सैन्य परेड ने पिछले 70 सालों में चीनी प्रतिरक्षा उद्योग के विकास स्तर और सेना के निर्माण में प्राप्त भारी परिवर्तन का प्रदर्शन किया। चीनी सेना के संयुक्त कमांड, संयुक्त कार्यवाई और संयुक्त गारंटी की क्षमता निरंतर मजबूत की जाती है।

सैन्य परेड के बाद करीब 1 लाख लोगों और 70 रंगीन कारों से गठित 36 ग्रुपों सैन्य परेड के बाद सामूहिक रैली का आयोजन किया गया। 1 लाख लोगों और 70 रंगीन कारों से गठित 36 टीमों ने विविधतापूर्ण तरीकों से मातृभूमि के प्रति अपनी शुभकामनाएं प्रेषित कीं।

समारोह के अंत में 70 हजार कबूतरों और 70 हजार गुब्बारों को चीनी जनता के उज्‍जवल स्वप्न के साथ आसमान में उड़ाए गए।

(साभार-चाइना रेडियो इंटरनेशनल, पेइचिंग)

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment