जलभराव के सवाल पर पत्रकारों पर भड़क उठे नीतीश

पटना, 2 अक्टूबर (आईएएनएस)। बिहार की राजधानी पटना में पिछले तीन दिनों से बारिश बंद हो चुकी है, मगर बुधवार को भी शहर पानी से लबालब रहा। शहरभर में जमा पानी की निकासी नहीं हो पाने के कारण लोगों की मुसीबतें कम नहीं हुई हैं। इस बीच जलभराव के संबंध में प्रश्न पूछे जाने पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पत्रकारों पर ही भड़क उठे।

मुख्यमंत्री मंगलवार रात राजधानी पटना में बाढ़ की स्थिति का जायजा लेने विभिन्न इलाकों में गए। वह जलभराव वाले क्षेत्रों का निरीक्षण करने के बाद एसकेएम हॉल पहुंचे, जहां उन्होंने राहत सामग्री वितरण केंद्र की व्यवस्था का जायजा लिया।

इस बीच, जब पत्रकारों ने जलभराव को लेकर उनसे सवाल पूछा तब वह भड़क गए। नीतीश कुमार ने कहा, मैं पूछ रहा हूं कि देश और दुनिया के कितने हिस्सों में बाढ़ आई है? क्या पटना के कुछ हिस्सों में जमा पानी ही एकमात्र समस्या है? क्या हुआ अमेरिका में और मुंबई में? इस दौरान नीतीश कुमार को स्थानीय लोगों के गुस्से का भी सामना करना पड़ा।

मुख्यमंत्री ने पत्रकारों को जन-जागृति की भी नसीहत दे डाली। उन्होंने बाढ़ को प्राकृतिक आपदा बताया और कहा कि कई बार सूखे की भी स्थिति होती है। उन्होंने कहा कि पटना में पानी की जलनिकासी का काम चल रहा है और बाहर से बड़े पंप भी मंगवाए गए हैं। उन्होंने कहा कि जिन जगहों पर पानी जमा है, वहां शहर के विस्तार के समय से ही समस्या बनी हुई है। नीतीश ने कहा कि ये निचले हिस्से हैं, इसी कारण समस्या आ रही है।

उल्लेखनीय है कि पटना के राजेंद्रनगर, कंकड़बाग, एस.के. पुरी सहित कई क्षेत्रों में अभी भी सड़कों पर पानी जमा है और लोग अपने घरों से बाहर नहीं निकल पा रहे हैं। विभागीय आंकड़ों के अनुसार, भारी बारिश और बाढ़ से प्रदेश में अब तक 42 लोगों की मौत हो चुकी है।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment