उत्तर प्रदेश बना पहली तेजस ट्रेन का गवाह : योगी (लीड-1)

लखनऊ , 4 अक्टूबर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को कहा कि स्वस्थ प्रतिस्पर्धा से नयापन आता है, और इसी नएपन का परिणाम है कि उत्तर प्रदेश पहली तेजस ट्रेन का गवाह बना है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को लखनऊ के चारबाग रेलवे जंक्शन से नई दिल्ली के लिए आईआरसीटीसी की पहली निजी ट्रेन तेजस एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस अवसर पर योगी ने कहा, तेजस एक्सप्रेस पहली ऐसी कॉरपोरेट ट्रेन है, जिसमें पैसेंजरों के लिए विमान जैसी सुविधाएं हैं। इसके लिए आईआरसीटीसी बधाई का पात्र है। लखनऊ से दिल्ली की यात्रा अब शानदार होगी। तेजस नएपन का प्रतीक है। इसीलिए उत्तर प्रदेश पहली तेजस ट्रेन का गवाह बना है।

उन्होंने आगे कहा, बदलाव हमेशा अच्छे के लिए होता है। प्रदेश सरकार चाहती है कि आगरा से वाराणसी तक फास्ट ट्रैक कॉरीडोर बने। अगर भारतीय रेल बोर्ड इस पर कार्य करने के लिए तैयार होता है तो आगरा से वाराणसी के बीच जमीन का खर्चा राज्य सरकार उठाएगी। इसके साथ ही इको टूरिज्म प्लेसेज पर टॉय ट्रेन चलाई जानी चाहिए। इसके लिए राज्य सरकार पूरी मदद करेगी।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा, मुझे उम्मीद है कि ऐसे और भी कदम उठाए जाएंगे, ताकि दूसरे शहरों को इस माध्यम से जोड़ा जा सके।

उल्लेखनीय है कि लखनऊ से दिल्ली जाने वाली तेजस एक्सप्रेस चारबाग जंक्शन से सुबह 6़ 10 बजे रवाना होगी। ट्रेन 7.20 बजे कानपुर पहुंचेगी। वहीं यह गाजियाबाद 11.43 बजे पहुंचेगी और दिल्ली 12.25 बजे पहुंच जाएगी।

इसी तरह दिल्ली से लखनऊ के लिए रवाना तेजस एक्सप्रेस नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से अपराह्न् 3़ 35 बजे खुलेगी और शाम 4़ 09 बजे गाजियाबाद पहुंचेगी। ट्रेन शाम को 8़ 35 बजे कानपुर और रात 10़ 05 बजे लखनऊ के चारबाग जंक्शन पर पहुंचेगी।

तेजस एक्सप्रेस में यात्रा करने के लिए पांच मिनट पहले तक टिकटों की बुकिंग होगी। इस ट्रेन के टिकटों की बुकिंग 60 दिन पहले कराई जा सकती है। इसमें यात्रा करने वाले यात्रियों को 25 लाख रुपये का मुफ्त बीमा भी मिलेगा। यह ट्रेन सप्ताह में छह दिन चलेगी और मंगलवार को बंद रहेगी।

इसमें 50 चेयरकार और 5 एग्जीक्यूटिव क्लास सीटें हैं, जो विदेशी पर्यटकों के लिए रिजर्व होंगी। तेजस एक्सप्रेस के सभी कोच पूरी तरह से सीसीटीवी कैमरों से लैस हैं। स्मोक व फायर डिटेक्शन सिस्टम लगा है। सेंसर बेस्ड ऑटोमैटिक दरवाजे हैं। जीपीएस आधारित पैसेंजर इंफोर्मेशन डिस्प्ले सिस्टम की भी सुविधा है। इसके अलावा ट्रेन में टी-कॉफी वेंडिंग मशीन और फ्री वाई-फाई की सुविधा भी है।

लखनऊ से चलने के दौरान इस ट्रेन में सुबह 6़ 30 बजे यात्रियों को चाय व कुकीज दिए जाएंगे। सुबह आठ बजे भारी नाश्ता मिलेगा। दिन में 11 बजे यात्रियों को दोबारा चाय-कॉफी, जूस व हल्का अल्पाहार मिलेगा। वहीं दिल्ली से लखनऊ के लिए रवाना हुई तेजस एक्सप्रेस में यात्रियों को शाम चार बजे चाय-नाश्ता मिलेगा, जबकि शाम सात बजे खाना परोसा जाएगा।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment