मप्र : अतिवृष्टि और बाढ़ से 674 जानें गईं, केंद्र से मांगे 7100 करोड़ रुपये

भोपाल, 4 अक्टूबर (आईएएनएस)। मध्य प्रदेश में अतिवृष्टि और बाढ़ से फसल और संपत्ति का तो नुकसान हुआ ही है, 674 लोगों की जान भी गई है। प्रदेश में हुए नुकसान के लिए राज्य सरकार ने केंद्र सरकार से 7154 करोड़ 28 लाख रुपये की आर्थिक सहायता मांगी है।

प्रदेश के राजस्व विभाग की ओर से उपलब्ध कराए गए ब्यौरे के अनुसार, प्रदेश के 52 में से 39 जिलों में अतिवृष्टि और बाढ़ से बहुत अधिक क्षति हुई है। राज्य में जून से सितंबर माह के बीच हुई वर्षा से लगभग 60 लाख 47 हजार हेक्टेयर क्षेत्र की 16 हजार 270 करोड़ रुपये की फसल प्रभावित हुई है। इसमें लगभग 53 लाख 90 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में 33 प्रतिशत तक फसल क्षतिग्रस्त हुई है।

विभाग के अनुसार, प्रदेश में अतिवृष्टि से 55 हजार 372 कच्चे-पक्के मकान, 4098 पक्के मकान तथा 55 हजार 267 कच्चे मकान आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हुए हैं। इसी क्रम में 3649 झोपड़ियां और 3274 पशु शेड भी क्षतिग्रस्त हुए हैं।

प्रदेश में बाढ़ और आकाशीय बिजली से 674 लोगों की मृत्यु हुई, 18 लोग शारीरिक अपंगता के शिकार हुए तथा तीन लोगों को गंभीर चोटें आई हैं। लगभग 1515 दुधारू पशु, 373 भारवाही पशु तथा 3 हजार 270 मुर्गियों की क्षति हुई है।

राजस्व विभाग के प्रमुख सचिव मनीष रस्तोगी ने गुरुवार को केंद्र सरकार को प्रस्ताव भेजकर अति-वर्षा और बाढ़ से हुए नुकसान की भरपाई के लिए 7154़ 28 करोड़ रुपये की सहायता राशि शीघ्र जारी करने का अनुरोध किया है। इस राशि में राष्ट्रीय आपदा सहायता कोष (एनडीआरएफ) मद से 6621़ 28 करोड़ रुपये केन्द्रीय सहायता राशि और राज्य आपदा सहायता कोष (एसडीआरएफ) से इस वर्ष की दूसरी किश्त की राशि 533 करोड़ रुपये शामिल है।

राजस्व विभाग के अनुसार, प्रदेश में अतिवृष्टि से सार्वजनिक संपत्तियों को हुए नुकसान की राशि 2285 करोड़ रुपये आंकी गई है। फसलों की कुल क्षति का अनुमान लगभग 16 हजार 270 करोड़ रूपये है तथा फसलों के नुकसान के लिए मांगी गई सहायता राशि तीन हजार 742 करोड़ रुपये है। इसी प्रकार मकान की क्षति, लोगों और पशुओं की मृत्यु एवं अपंगता के लिए 579़ 96 करोड़ रुपये, बचाव अभियान के लिए 10़ 02 करोड़ रुपये, राहत शिविरों पर एक करोड़ 75 लाख रुपये, खाद्यान्न और मिट्टी तेल के नुकसान पर एक करोड़ 65 लाख रुपये की सहायता राशि अनुमानित है।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment