उप्र में पुरानी रंजिश में हुई सेवानिवृत्त एसआई की हत्या : पुलिस

बांदा, 5 अक्टूबर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश में बांदा जिला मुख्यालय की कचहरी में शुक्रवार को दिनदहाड़े हुई एक सेवानिवृत्त पुलिस उपनिरीक्षक (एसआई) की हत्या के पीछे पुलिस ने पुरानी रंजिश बताया है।

पैलानी के थाना प्रभारी (एसएचओ) दिनेश सिंह ने शनिवार को कहा, 2018 में रामसुधीर और ननकू राम कोटेदार ने मृत सेवानिवृत्त दरोगा कल्लू प्रसाद वर्मा के बेटे चंद्रप्रकाश और भांजे अमित वर्मा के खिलाफ नाबालिग लड़की से दुष्कर्म करने का मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस ने दोनों को जेल भेज दिया था, अब वे जमानत पर बाहर हैं। जेल से छूटने के बाद चंद्रप्रकाश ने भी एक दलित महिला को मोहरा बनाकर रामसुधीर और ननकू राम सहित सात लोगों के खिलाफ एससी/एसटी एक्ट के अलावा दुष्कर्म का मुकदमा हाल ही में दर्ज कराया है। जिसकी जांच चल रही है।

मृतक सेवानिवृत्त दरोगा और उनकी हत्या में नामजद रामसुधीर व ननकू राम एक ही गांव निवाइच के रहने वाले हैं।

उन्होंने बताया कि शुक्रवार को दिनदहाड़े बांदा कचहरी में हुई कल्लू प्रसाद की हत्या इसी पुरानी रंजिश का परिणाम है और 50 हजार रुपये लूटने की कहानी संदिग्ध है।

सदर क्षेत्र के पुलिस उपाधीक्षक राघवेन्द्र सिंह ने बताया कि पकड़े गए आरोपी रामसुधीर ने पूछताछ में स्वीकार किया कि मृतक एसआई के इशारे पर उसके व ननकू राम के खिलाफ झूठा दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराने की वजह से यह घटना कारित की है। उन्होंने कहा कि दूसरा आरोपी ननकू राम अभी फरार है, और उसे भी जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

गौरतलब है कि शुक्रवार को भारतीय स्टेट बैंक की शाखा से पेंशन की रकम निकालने आए सेवानिवृत्त दरोगा कल्लू प्रसाद की दिनदहाड़े जिला मुख्यालय की कचहरी में कथित रूप से पिटाई होने के बाद मौत हो गई थी, जिससे कानून-व्यवस्था को लेकर कई सवाल उठे थे। पीड़ित परिवार ने 50 हजार रुपये लूटने का भी आरोप लगाया था।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment