77 साल की बुजुर्ग बनी फैशन आइकन

इंटनेट न्यूज कहा जाता हैं कि अगर इंसान कुछ करना चाहे तो उम्र कभी बाधा नहीं बनती हैं।ऐसा ही एक उदाहरण देखने को मिला हैं दक्षिण की रहने वाली 77 वर्षीय बुजुर्ग महिला चोई सून की हैं।जिन्होंने अस्पताल में काम करते हुए टीवी पर विज्ञापन देखकर फैशन आइकनकोरिया बनने का सपना देखा। धीरे –धीरे इस दिशा में कदम बढ़ाने के साथ वह एक दिन सियोल फैशन में रैंप वाँक करने के बाद चर्चा में आई और दक्षिण कोरिया की सबसे बुजुर्ग माँडल बन गई।

चोई का जीवन संघर्षभरा रहा है। आर्थिक तंगी में पली-बढ़ीं चोई को पति के छोड़ने के बाद बच्चों की परवरिश की जिम्मेदारी उन पर थी। पिछले कई वर्षों से वह अस्पताल में नौकरी करके गुजारा कर रही थी। इसका बड़ा कारण कर्ज था, जो उन्हें चुकाना था।

चोई का कहना है- मेरे पास आमदनी का कोई और सहारा नहीं था, कमाई का बड़ा हिस्सा कर्ज चुकाने में जा रहा था। काम के दौरान मेरे लिए दोपहर का भोजन करना भी बहुत मुश्किल होता और तनाव बढ़ जाता था। ऐसा लग रहा था कि जैसे मेरे अंदर कोई ज्वालामुखी फूटने वाला हो। मैं थक गया था, इसलिए जीवन को बदलने की ठानी।

चोई के मुताबिक- नेटवर्किंग के लिए बाल भी डाई नहीं करना पड़ता है। जब अस्पताल में थे तो उन्हें सफेद बाल छिपाने के लिए डाई करना पड़ता था, क्योंकि मरीज नहीं चाहते थे कि कोई बुजुर्ग उनकी देखभाल करें। दक्षिण कोरिया में 45% बुजुर्ग लोग गरीबी में जीवन गुजारा करते हैं।

Related News

Leave a Comment