9 करोड़ के आलिशान बंगले को महज 700 रूपये में बेच रहा था मालिक, लेकिन...

अमेरिका में 100 साल पुराने एक बंगले को 10 डॉलर में बेचने की खबर पिछले साल काफी वायरल हुई थी। हालांकि, इसके साथ एक शर्त भी रखी गई थी कि छह बेडरूम वाला ये बंगला जो भी खरीदेगा, उसे ये बंगला कहीं और शिफ्ट करना पड़ेगा। इसके बाद ज्यादातर खरीदारों ने अपने हाथ खींच लिए।

इस प्रॉपर्टी की ओनर एक रियल स्टेट कंपनी यहां आठ अलग-अलग मकान बनाना चाहती है, लेकिन डील के तहत ये बंगला गिराना नहीं है। ऐसे में कंपनी इसे बेचना चाह रही थी।

'प्लीजेंट एवेन्यू' नाम का ये बंगला न्यूजर्सी के मॉन्टक्लेयर में मौजूद है। 3900 स्क्वेयर फुट में बने इस बंगले में 6 बेडरूम, तीन बाथरूम, टेनिस कोर्ट और कैरेज हाउस के साथ बहुत कुछ है। बंगले के आसपास करीब ढाई एकड़ जमीन है। इन सबके अलावा भी बंगला और कई खूबियों से भरा पड़ा है। इसकी मार्केट में असल कीमत नौ करोड़ रु. के करीब है।

प्रॉपर्टी के लिहाज से जिस मॉन्टक्लेयर इलाके में ये बंगला मौजूद है, वो इतना महंगा है कि यहां के तकरीबन सभी बंगले करोड़ों की कीमत में बिके हैं।  प्लीजेंट एवेन्यू भी ऐतिहासिक तौर पर काफी अहम है। ये पहले अफ्रीकी अमेरिकी एथलीट और फुटबॉल टीम के कैप्टन ऑब्रे लेविस का था।  लेविस एफबीआई के पहले अश्वेत सदस्य भी थे। 2001 में उनकी मौत के बाद बीएनई रियल स्टेट ग्रुप ने इस प्रॉपर्टी को खरीद लिया था।

कंपनी ने ये प्रॉपर्टी खरीदने के बाद इस जगह पर 8 नए मकान बनाने का प्लान किया था। पर ये प्लान कामयाब नहीं हो सका, क्योंकि जब कंपनी ने ये प्रॉपर्टी खरीदी थी, तब उन्होंने मॉन्टक्लेयर हिस्टॉरिक प्रिवेन्शन कमीशन के साथ इस ऐतिहासिक बंगले को प्रिजर्व करने का एक एग्रीमेंट किया था।

लिहाजा, कंपनी बंगले को गिरा नहीं सकती है। ऐसे में कंपनी बंगले को इस शर्त पर बेचना चाह रही थी कि खरीदने वाला इसे पूरे सामान के साथ कहीं और शिफ्ट कर ले जाए। हालांकि, ये शर्त सुनने के बाद महज 700 रुपए में मिल रहे इस बंगले को भी खरीदने से लोगों ने मुंह मोड़ लिया।

रियल स्टेट एजेंट लॉरेन व्हाइट के मुताबिक, इस बंगले को शिफ्ट करने में हजारों डॉलर तक का खर्च आएगा। हालांकि, सिर्फ यही खर्च नहीं है। इसे शिफ्ट करने में होने वाले नुकसान की मरम्मत और सुधार भी जरूरी है और ये हिस्टॉरिक गाइडलाइंस के हिसाब से करनी होगी, जिसमें काफी ज्यादा खर्च होगा। प्रॉपर्टी को मूव करने में प्रॉपर्टी बेचने वाले को भी 10,000 डॉलर की मदद करनी पड़ेगी।

Related News

Leave a Comment